11/05/11

एक नया ब्लाग आप सब के लिये..

आप सब के लिये, आप के बच्चो के लिये, आप के पडोसियो के लिये ,रिश्ते नाते दारो के लिये, मित्रो के लिये, जान पहचान वालो के लिये... यह ब्लाग बहुत अलग हट के, आज नही तो कल आप के काम आ सकता हे, सेवा बिल्कुल मुफ़त...

चलिये ज्यादा पहेली वाजी नही करता आप खुद जा कर यहां देख ले, यहां किल्क करे ओर पहुच जाये इस नये ब्लाग पर....

24 comments:

संजय भास्कर said...

बेहद सार्थक प्रयास है आपका भाटिय़ा जी

योगेन्द्र मौदगिल said...

sanjay bhaskar se sahmat hoon...sadhuwaad

प्रवीण पाण्डेय said...

चलिये घूम आते हैं।

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

बहुत अच्छी पहल....

नरेश सिह राठौड़ said...

नेकी का काम है और साथ में नया विचार भी |

ZEAL said...

I very much liked the new blog. Thanks Bhatia ji.

रश्मि प्रभा... said...

yah rishta kaun dhoondhega

Khushdeep Sehgal said...

क्या राज जी,
हमारे लिए तो ये ब्लॉग 18 साल बाद शुरू हुआ...

जय हिंद...

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

भाटिया साहब, उस ब्लॉग का कॉमेंट बॉक्स काम नहीं कर रहा है ! यहीं पर मसाला भेज रहा हूँ आप कृपा करके खुद ही चिपका दे :)


उच्चतर माध्यामिकी में तीन बार असफल, साहित्य एवं ब्लॉग्गिंग में रुचिधारक, वर्तमान में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जोकि आजकल सेलरी नहीं दे रही, में कार्यरत एक पैंतालिस वर्षीय युवक को तलाश है एक मजबूत, विश्वसनीय एवं कम अवमूल्यन (ह्रास ) वाली पत्नी की . संगतता एक मुद्दा हो सकता है. एक बड़ी फेमली यूनिट को संभालने का तजुर्बा होना आवश्यक शर्त है. अतीत में लादेन की फेमली यूनिट में काम के तजुर्बे को एक अतिरिक्त योग्यता समझा जाएगा और ऐसे ताजुर्बाकार को प्राथमिकता दी जायेगी. चल और अचल सम्पति की फोटो के साथ तुरंत संपर्क करें . प्रोफ़ाइल विवरण में व्याकरण और वर्तनी त्रुटियों के लिए कोई जगह नहीं है, जो कुछ लिखा है वह सीधे दिल से निकलकर आया है! अस्वीकरण (Disclaimer ) : इसको पढ़कर यदि आप ही अपनी आधारभूत व्याकरण भूल जाए तो इसके लिए मैं कदापि जिम्मेवार नहीं हूँगा !... :)

रेखा श्रीवास्तव said...

bahut achchhi pahal bhatia jee. jaroorat par jaroor isaka phayada uthaungi.

रंजना said...

वाह...

सार्थक प्रयास...

लोकहितकारी इस कार्य के लिए आपका साधुवाद..

सुशील बाकलीवाल said...

यूनिक सोच, सार्थक प्रयास. शुभकानाओं सहित...

नीरज जाट जी said...

आप के बच्चो के लिये, आप के पडोसियो के लिये ,रिश्ते नाते दारो के लिये, मित्रो के लिये, जान पहचान वालो के लिये
...
सबसे पहले लिखना था- जाट के लिये।

Sawai Singh Rajpurohit said...

आदरणीय राज भाटिय़ाजी
इस प्रयास के लिए हार्दिक बधाई।

दिगम्बर नासवा said...

सार्थक प्रयास ...

G.N.SHAW said...

ताऊ जी ...बेहद सराहनीय कदम !

सतीश सक्सेना said...

जरूर चलेंगे भाई जी ...

राज भाटिय़ा said...

कुछ टिपण्णियां जो १२,०५,११ को अपने आप गायब हो गई थी...
ZEAL has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

I very much liked the new blog. Thanks Bhatia ji.



Posted by ZEAL to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 4:55 AM

राज भाटिय़ा said...

कुछ टिपण्णियां जो १२,०५,११ को अपने आप गायब हो गई थी...
Khushdeep Sehgal has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

क्या राज जी,
हमारे लिए तो ये ब्लॉग 18 साल बाद शुरू हुआ...

जय हिंद...



Posted by Khushdeep Sehgal to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 5:27 AM

राज भाटिय़ा said...

कुछ टिपण्णियां जो १२,०५,११ को अपने आप गायब हो गई थी...
पी.सी.गोदियाल "परचेत" has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

भाटिया साहब, उस ब्लॉग का कॉमेंट बॉक्स काम नहीं कर रहा है ! यहीं पर मसाला भेज रहा हूँ आप कृपा करके खुद ही चिपका दे :)


उच्चतर माध्यामिकी में तीन बार असफल, साहित्य एवं ब्लॉग्गिंग में रुचिधारक, वर्तमान में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जोकि आजकल सेलरी नहीं दे रही, में कार्यरत एक पैंतालिस वर्षीय युवक को तलाश है एक मजबूत, विश्वसनीय एवं कम अवमूल्यन (ह्रास ) वाली पत्नी की . संगतता एक मुद्दा हो सकता है. एक बड़ी फेमली यूनिट को संभालने का तजुर्बा होना आवश्यक शर्त है. अतीत में लादेन की फेमली यूनिट में काम के तजुर्बे को एक अतिरिक्त योग्यता समझा जाएगा और ऐसे ताजुर्बाकार को प्राथमिकता दी जायेगी. चल और अचल सम्पति की फोटो के साथ तुरंत संपर्क करें . प्रोफ़ाइल विवरण में व्याकरण और वर्तनी त्रुटियों के लिए कोई जगह नहीं है, जो कुछ लिखा है वह सीधे दिल से निकलकर आया है! अस्वीकरण (Disclaimer ) : इसको पढ़कर यदि आप ही अपनी आधारभूत व्याकरण भूल जाए तो इसके लिए मैं कदापि जिम्मेवार नहीं हूँगा !... :)


सुशील बाकलीवाल has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

यूनिक सोच, सार्थक प्रयास. शुभकानाओं सहित...



Posted by सुशील बाकलीवाल to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 1:38 PM

राज भाटिय़ा said...

Rekha has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

bahut achchhi pahal bhatia jee. jaroorat par jaroor isaka phayada uthaungi.



Posted by Rekha to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 1:02 PM

राज भाटिय़ा said...

रश्मि प्रभा... has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

yah rishta kaun dhoondhega



Posted by रश्मि प्रभा... to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 5:02 AM

राज भाटिय़ा said...

नरेश सिह राठौड़ has left a new comment on your post "एक नया ब्लाग आप सब के लिये..":

नेकी का काम है और साथ में नया विचार भी |



Posted by नरेश सिह राठौड़ to पराया देश Paraya Desh at 12 May 2011 4:43 AM

Richa P Madhwani said...

http://shayaridays.blogspot.com