09/02/11

ज्ञानोदय

आईये आज आप को एक मित्र( सुशील गुप्ता जी ) से मिलवाये, मुझे इन से मिलवाया था अंतर जी ने, ओर यह काम करते हे शाली मार बाग मे, तो मुझे एक दिन अंतर जी ने जब मे दिल्ली गया तो पूछा की इन मित्र की मदद कर सकते हे, हिन्दी का टूल इंस्टाल कर दे इन के पी सी पर, मैने कभी भी दुसरे पीसी पर हाथ नही चलाया, लेकिन इन के पीसी पर थोडी बहुत अडचन आई लेकिन टूल (बारहा) इंस्टाल नही हुआ,

फ़िर इन्होने ने पूछा कि अगर आप के पास समय हो तो मेरे लिये भी एक ब्लाग बना दे, अजी हम ने उस समय तो काम चलाऊ सा ब्लाग बना दिया, लेकिन दिल मे यही कसक थी कि  यार ब्लाग किसी भी तरह से बने बनाना चाहिये था, ओर इन्हे ज्यादा समझा भी नही सका, फ़िर अंतर ने इन्होको एक हिंदी का टूल ईस्टाल कर दिया, इन्होने एक दो  फ़िर चार पांच पोस्टे लिखे, लेकिन पढे कोन? जब कि इन्हे कोई जानता भी नही, ओर किसी एग्रिगेटर मे भी शामिल नही हे.

अब इन की एक नयी पोस्ट आई मुझे बहुत अच्छी लगी, लेकिन पता नही इन्होने खुद लिखी हे या कही से कापी पेस्ट की हे, जो भी हो हम सब को इन्हो का होस्सला बढाना चाहिये, तो चलिये इन के सुंदर विचार को पढे ओर अपने विचार इन्हे खुद इन के ब्लाग पर दे, धन्यवाद, नीचे इन की पोस्ट का कुछ हिस्सा..

जय श्री राम                  ज्ञानोदय           जय श्री राम                                       

हमने जरूर कुछ ऐसा किया है या कर रहे हैं जिसके कारण हम दुखी हैं।  परमात्मा कभी भूल नहीं करते, प्रकृति कभी गलत नहीं करती।  हम अपनी जिन्दगी को देखें, हमने जो भी कुछ दिया है, वही मिल रहा हैबाकी पढने के लिये यहां जाये ओर इन का होस्स्ला बढाए

36 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

परिचय का आभार।

ताऊ रामपुरिया said...

परिचय के लिये बहुत शुक्रिया जी.

रामराम.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

आपका आभार..

अभिषेक मिश्र said...

धन्यवाद.

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

परिचय के लिए धन्यवाद

Rahul Singh said...

परमार्थ सुख.

ZEAL said...

एक नए , बेहतरीन ब्लोगर से मिलवाने के लिए आभार ।

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

आज परिचय का दिन है खुशदीप जी ने भी एक से परिचय कराया है।

निर्मला कपिला said...

परिचय के लिये धन्यवाद। अभी जाते हैं वहाँ।

: केवल राम : said...

एक नए व्यक्ति को इस परिवार में शामिल करने के लिया आपका आभार

Alok Mohan said...

thanks sir.is jankari ke liye

Arvind Mishra said...

वहीं जाते हैं

rashmi ravija said...

बहुत बहुत शुक्रिया सुशील गुप्ता जी से परिचय करवाने का.

उपेन्द्र ' उपेन ' said...

sushil ji milvane ke liye aabhar..

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

उत्तम बात कही उन्होंने !

मनोज कुमार said...

नए दोस्त से परिचय कराने का आभार।

राज भाटिय़ा said...

आप सभी का धन्यवाद, मेने सुशील जी को समझाया हे केसे टिपण्णी दे, आशा हे उन्हे समझ आ गया होगा, या जब अन्तर जी आयेगे तो वो उन्हे समझा देगे,फ़िर से आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद

संजय भास्कर said...

बहुत बहुत शुक्रिया सुशील गुप्ता जी से परिचय करवाने का.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" said...

परिचय कराने के लिए धन्यवाद!

Er. सत्यम शिवम said...

आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (12.02.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.uchcharan.com/
चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

कविता रावत said...

एक नए व्यक्ति को इस परिवार में शामिल करने के लिया आपका आभार

रंजना said...

परिचय कराने के लिए आपका आभार !!!

Dr Varsha Singh said...

परिचय के लिए धन्यवाद

Dr (Miss) Sharad Singh said...

सुशील गुप्ता जी के उत्तम विचारों से परिचित कराने के लिए आभार...

OM KASHYAP said...

परिचय के लिये बहुत शुक्रिया जी.
aapka dhanaywaad

Kunwar Kusumesh said...

परिचय कराने के लिए आभार.
आप विदेश में रहते हुए भी हिंदी की जो अलख जगाए हुए हैं वह जज़्बा प्रणम्य है.

वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर said...

डॉ. दिव्या श्रीवास्तव ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर किया पौधारोपण
डॉ. दिव्या श्रीवास्तव जी ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर तुलसी एवं गुलाब का रोपण किया है। उनका यह महत्त्वपूर्ण योगदान उनके प्रकृति के प्रति संवेदनशीलता, जागरूकता एवं समर्पण को दर्शाता है। वे एक सक्रिय ब्लॉग लेखिका, एक डॉक्टर, के साथ- साथ प्रकृति-संरक्षण के पुनीत कार्य के प्रति भी समर्पित हैं।
“वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर” एवं पूरे ब्लॉग परिवार की ओर से दिव्या जी एवं समीर जीको स्वाभिमान, सुख, शान्ति, स्वास्थ्य एवं समृद्धि के पञ्चामृत से पूरित मधुर एवं प्रेममय वैवाहिक जीवन के लिये हार्दिक शुभकामनायें।

आप भी इस पावन कार्य में अपना सहयोग दें।
http://vriksharopan.blogspot.com/2011/02/blog-post.html

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति said...

is parichaay ke liye saadar shukriya ...

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" said...

parichaya ke liye dhanyawad....

mahendra verma said...

सुशील गुप्ता जी का स्वागत है।

देवेन्द्र पाण्डेय said...

यह तो बड़ा अच्छा काम किया आपने। सुंदर विचार हैं ।

Meenu Khare said...

परिचय कराने का आभार।

डॉ महेश सिन्हा said...

मिले सुर मेरा तुम्हारा तो सुर बने हमारा
धन्यवाद इसी तरह उत्साह वर्धन करते रहिए

ज्ञानचंद मर्मज्ञ said...

नए ब्लोगर से परिचय कराने के लिए धन्यवाद !

મલખાન સિંહ said...

सर जी, ये मैंने ही लिखा है और परसों लिखा है. एक दिन पहले पोस्ट किया था, पर दोबारा पोस्ट करना पड़ा. क्योंकि कमेन्ट बॉक्स शो नहीं कर रहा था. यदि आपने कहीं और देखा या पढ़ा है तो कृपया बताएं. धन्यवाद्. - मलखान सिंह.
http://mydunali.blogspot.com

अन्तर सोहिल said...

आपका आभार
लेख अच्छा लगा

प्रणाम