26/01/11

ताऊ के बचपन का सपना..ताऊ के असली चित्र के संग

बहुत पुरानी बात हे, पुराने समय की...
एक बार ताऊ के मास्टर जी ने ताऊ से कुछ सवाल किये...
मास्टर जी.... अच्छा बेटा तुम बडे हो कर क्या करोगे ?
ताऊ... मास्टर जी मै तो शादी करुंगा.
मास्टर जी... अरे नही बेटा, मेरा मतलब यह था कि तुम क्या बनोगे ?
ताऊ... मास्टर जी मै दुल्हा बनूगां ना
मास्टर जी...अरे बेटा मेरे कहने का मतलब तुम क्या पाओगे बडे हो कर?
ताऊ.... मास्टर जी....मै बडा हो कर दुल्हन पाऊंगा
मास्टर जी..अरे बेवकुफ़ तुम  मां बाप के लिये कया करोगे?
ताऊ.... मास्टर जी मां बाप के लिये उन की बहू लाऊंगा
मास्टर जी... अरे पागल.... यह बता तेरे मां बाप तेरे से क्या चाहते हे?
ताऊ.... मास्टर जी अम्मा ओर बापू को पोता चाहिये.
मास्टर जी....हे भगवान इस छोरे का मतलब क्या हे, यह जिन्दगी मे क्या करेगा?
ताऊ.... मास्टर जी ... छोरा हम दो हमारे दो करेगा जिन्दगी मे

मास्टर जी बेहोश हो कर गिर गये, अगर मास्टर की जगह आप होते तो क्या होता?
ताउ का असली चित्र छोटी घोडी मे पेट्रोल भरवा रहा हे...
फ़िर अपनी छोटी घोडी को मीठी सी चुम्बन देते हुये...
यह सभी चित्र हम ने गुप्त रुप से खींचे हे इस लिये ताऊ को कोई ना बताये, कि यह चित्र ताऊ जी के ही हे,
 

33 comments:

  1. बड़े दुर्लभ चित्र वाह वाह -चेहरा दिख गया दिख गया ताऊ का ...बचपन सही बिंदास बोलने वाले रहे हैं अपने ताऊ !

    ReplyDelete
  2. सच में दुर्लभ चित्र हैं।
    पर मैं ताऊ को बता आया।
    वो आ रहे हैं जर्मन लट्ठ के साथ :)

    ReplyDelete
  3. गणित वाले गुरुजी के लिए सवाल- पेट्रोल वाली घोड़ी का माइलेज कितना होता होगा.

    ReplyDelete
  4. ताऊ का एकांगी उत्तर, कोई प्रश्न भी पूछिये।

    ReplyDelete
  5. वाह जी,

    बको ध्यानम!!छात्र बडा केन्द्रित और मगन है।;)

    पहली तो छोटी घोड़ी हो सकती है, पर दूसरा तो छोटा घोड़ा है।:)

    ReplyDelete
  6. मा गए ताऊ को , धन्य है ।

    ReplyDelete
  7. यदि ऐसे दो-चार विद्यार्थी मिल जाएँ तो बेचारे शिक्षक की तो बुरी दशा हो जायेगी । ताऊ जी की तस्वीर मजेदार है।

    ReplyDelete
  8. ये ताऊ की घोड़ी है ???

    मुझे तो गधा दिखा रहा है |

    क्या पता ताऊ के राज में कुछ भी हो सकता है |

    माइलेज अच्छा हो तो एक हम भी आर्डर दे दे ताऊ को |

    ReplyDelete
  9. ‌‌‌अगर ताऊ खुद इस ब्लॉग पर आ गया तो......
    समझो आपकी तो वाट लगी

    ReplyDelete
  10. ताऊ जी से फोन पर बात हुई, उन का कहना है कि ये दोनों फोटो भाटिया जी के हैं, उन्हों ने अपने कैमरे से खींची थी। भाटिया जी ने न जाने कब उन के अलबम से उड़ा ली और यहाँ चिपका दी।

    ReplyDelete
  11. बहुत मजेदार.ताऊ जी को घणी राम-राम.

    ReplyDelete
  12. लग तो ताऊ ही रहा है.

    ReplyDelete
  13. :) :) बहुत बढ़िया ..

    ReplyDelete
  14. भाटिया साहब , ताऊ को आगे मुह करके क्यों बिठाया गधे पर ? :)

    ReplyDelete
  15. अरे! तब कैमरे का अविष्कार हो चुका था ?
    :)

    ReplyDelete
  16. दोनों ही पार्ट मज़ेदार रहा।
    चित्र तो लाजवाब है।

    ReplyDelete
  17. बहुत बढ़िया :)

    ReplyDelete
  18. छोटी गाडी कहां है, फोर व्हीलर है।

    ReplyDelete
  19. हा हा हा हा...बहुत बहुत मजेदार...

    शिक्षक महोदय के स्थान पर हम होते तो शायद हम भी गश खाकर गिर पड़ते...

    ReplyDelete
  20. बल्ले बल्ले ...ताउजी की घोड़ी क्या पेट्रोल पम्प में रिचार्ज हो रही है ... हा हा हा हा ... नीचे वाला असली लग रिओ है ...

    ReplyDelete
  21. उफ़्फ़ ! नीचे घोडी की क्यूटनेस तो हमें अंदर तक घायल कर गई ..जो काम मुन्नी और सीला मिल के न कर पाईं ..वो निगोडी घोडी कर गई ..उफ़्फ़ उफ़्फ़

    ReplyDelete
  22. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार 29.01.2011 को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.uchcharan.com/
    आपका नया चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

    ReplyDelete
  23. वाह ...आपने तो आज तू जी का नकाब उतार दिया .. सुन्दर चुटकुला भी ... सादर

    ReplyDelete
  24. हा हा हा... वह जी वाह!

    ReplyDelete
  25. कभी बीबी, कभी बहू, कभी बच्चे, कभी शादी.
    जिधर देखूँ उधर तुम हो...

    ReplyDelete
  26. बहुत बढ़िया ....मजा आ गया..:):)

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये