26/01/11

ताऊ के बचपन का सपना..ताऊ के असली चित्र के संग

बहुत पुरानी बात हे, पुराने समय की...
एक बार ताऊ के मास्टर जी ने ताऊ से कुछ सवाल किये...
मास्टर जी.... अच्छा बेटा तुम बडे हो कर क्या करोगे ?
ताऊ... मास्टर जी मै तो शादी करुंगा.
मास्टर जी... अरे नही बेटा, मेरा मतलब यह था कि तुम क्या बनोगे ?
ताऊ... मास्टर जी मै दुल्हा बनूगां ना
मास्टर जी...अरे बेटा मेरे कहने का मतलब तुम क्या पाओगे बडे हो कर?
ताऊ.... मास्टर जी....मै बडा हो कर दुल्हन पाऊंगा
मास्टर जी..अरे बेवकुफ़ तुम  मां बाप के लिये कया करोगे?
ताऊ.... मास्टर जी मां बाप के लिये उन की बहू लाऊंगा
मास्टर जी... अरे पागल.... यह बता तेरे मां बाप तेरे से क्या चाहते हे?
ताऊ.... मास्टर जी अम्मा ओर बापू को पोता चाहिये.
मास्टर जी....हे भगवान इस छोरे का मतलब क्या हे, यह जिन्दगी मे क्या करेगा?
ताऊ.... मास्टर जी ... छोरा हम दो हमारे दो करेगा जिन्दगी मे

मास्टर जी बेहोश हो कर गिर गये, अगर मास्टर की जगह आप होते तो क्या होता?
ताउ का असली चित्र छोटी घोडी मे पेट्रोल भरवा रहा हे...
फ़िर अपनी छोटी घोडी को मीठी सी चुम्बन देते हुये...
यह सभी चित्र हम ने गुप्त रुप से खींचे हे इस लिये ताऊ को कोई ना बताये, कि यह चित्र ताऊ जी के ही हे,
 

33 comments:

Abhishek Ojha said...

मस्त :)

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

:) बहुत बढ़िया

Arvind Mishra said...

बड़े दुर्लभ चित्र वाह वाह -चेहरा दिख गया दिख गया ताऊ का ...बचपन सही बिंदास बोलने वाले रहे हैं अपने ताऊ !

ललित शर्मा said...

सच में दुर्लभ चित्र हैं।
पर मैं ताऊ को बता आया।
वो आ रहे हैं जर्मन लट्ठ के साथ :)

Rahul Singh said...

गणित वाले गुरुजी के लिए सवाल- पेट्रोल वाली घोड़ी का माइलेज कितना होता होगा.

प्रवीण पाण्डेय said...

ताऊ का एकांगी उत्तर, कोई प्रश्न भी पूछिये।

सुज्ञ said...

वाह जी,

बको ध्यानम!!छात्र बडा केन्द्रित और मगन है।;)

पहली तो छोटी घोड़ी हो सकती है, पर दूसरा तो छोटा घोड़ा है।:)

Mithilesh dubey said...

मा गए ताऊ को , धन्य है ।

ZEAL said...

यदि ऐसे दो-चार विद्यार्थी मिल जाएँ तो बेचारे शिक्षक की तो बुरी दशा हो जायेगी । ताऊ जी की तस्वीर मजेदार है।

anshumala said...

ये ताऊ की घोड़ी है ???

मुझे तो गधा दिखा रहा है |

क्या पता ताऊ के राज में कुछ भी हो सकता है |

माइलेज अच्छा हो तो एक हम भी आर्डर दे दे ताऊ को |

મલખાન સિંહ said...

‌‌‌अगर ताऊ खुद इस ब्लॉग पर आ गया तो......
समझो आपकी तो वाट लगी

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

ताऊ जी से फोन पर बात हुई, उन का कहना है कि ये दोनों फोटो भाटिया जी के हैं, उन्हों ने अपने कैमरे से खींची थी। भाटिया जी ने न जाने कब उन के अलबम से उड़ा ली और यहाँ चिपका दी।

Meenu Khare said...

बहुत मजेदार.ताऊ जी को घणी राम-राम.

Udan Tashtari said...

लग तो ताऊ ही रहा है.

shikha varshney said...

:) :) बहुत बढ़िया ..

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

भाटिया साहब , ताऊ को आगे मुह करके क्यों बिठाया गधे पर ? :)

P.N. Subramanian said...

मजा आ गया.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

ताऊ की जगह चाचा जी!

Kajal Kumar said...

अरे! तब कैमरे का अविष्कार हो चुका था ?
:)

मनोज कुमार said...

दोनों ही पार्ट मज़ेदार रहा।
चित्र तो लाजवाब है।

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

ताऊ जिन्दाबाद

Coral said...

बहुत बढ़िया :)

नीरज जाट जी said...

छोटी गाडी कहां है, फोर व्हीलर है।

विरेन्द्र सिंह चौहान said...

HA..HA..HA..HA.
Very nice Sir ji....Mazaa Aa gaya.

रंजना said...

हा हा हा हा...बहुत बहुत मजेदार...

शिक्षक महोदय के स्थान पर हम होते तो शायद हम भी गश खाकर गिर पड़ते...

महेन्द्र मिश्र said...

बल्ले बल्ले ...ताउजी की घोड़ी क्या पेट्रोल पम्प में रिचार्ज हो रही है ... हा हा हा हा ... नीचे वाला असली लग रिओ है ...

अजय कुमार झा said...

उफ़्फ़ ! नीचे घोडी की क्यूटनेस तो हमें अंदर तक घायल कर गई ..जो काम मुन्नी और सीला मिल के न कर पाईं ..वो निगोडी घोडी कर गई ..उफ़्फ़ उफ़्फ़

Er. सत्यम शिवम said...

आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार 29.01.2011 को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.uchcharan.com/
आपका नया चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

क्षितिजा .... said...

hahahahahaha.... :):)

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति said...

वाह ...आपने तो आज तू जी का नकाब उतार दिया .. सुन्दर चुटकुला भी ... सादर

Shah Nawaz said...

हा हा हा... वह जी वाह!

सुशील बाकलीवाल said...

कभी बीबी, कभी बहू, कभी बच्चे, कभी शादी.
जिधर देखूँ उधर तुम हो...

rashmi ravija said...

बहुत बढ़िया ....मजा आ गया..:):)