02/09/10

चलता हूं.... लॊट के मिलता हुं .......

आज सुबह की आप सब को नमस्ते,आशा करता हुं आज का दिन आप सब के लिये अच्छा होगा,आज यानि शुक्रवार को मै आप सब के साथ हुं,, कल ओर परसॊ मै एक मुंडन के उत्साव मै ओर फ़िर सुंदर सुंदर मेहमानो से सजी पार्टी मै बच्चो का ताऊ बन के जा रहा हुं,. स्विट्र्जेंड मै जुरिख के पास एक छोटा सा गांव है, जो मेरे घर से करीब ४०० कि मी दुर है, शनिवार को हम सुबह १०:०० बजे घर से निकले गे, ओर करीब १,०० बजे दोपहर के खाने पर उन के घर पहुचं जाये गे, फ़िर उन के हवाले हम हो जायेगे, दिन मै मुंडन ओर शाम को पार्टी, अगर पार्टी जल्दी खत्म हुयी तो रात को ही वापिस आ जायेगे, वर्ना इतवार को १० ग्याहार बजे चलेगे ओर १,२ बजे तक घर आ जाये गे, फ़िर बच्चो को वहां की बाते बतायेगे, क्योकि बच्चे वहां नही जा रहे, बल्कि हमारी गेर मोजूदगी मै घर पर ही अपने दोस्तो के संग पार्टी करेगे.

तो दो दिन के लिये हम आप सब से दुर रहेगे, यानि आप लोगो की दो दो टिपण्णियां कम होगी, माफ़ करेगे ना आप सब,अगर आप लोगो ने उस पार्टी के चित्र देखने हो तो बताईये , खींच लांऊगा, आज तो यही हुं, कल सुबह से हम दो दिन नही मिल पायेगे,

तो सब को राम राम चलते है ......लोट के मिलते है.....कभी अलविदा ना कहना दोस्तो को.

25 comments:

Mrs. Asha Joglekar said...

आप पार्टी का लुत्फ उठायें और हमें चित्र दिखाये । हेव फन ।

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

कार बहुत सुरक्षित चुनी है आपने ईको फ़्रेन्डली

Udan Tashtari said...

जो तस्वीर में गाड़ी दिखाई है, अगर उससे जा रहे हैं तो अगले साल मिलते हैं आपसे. :)

पी.सी.गोदियाल said...

ह-हा-हा... इस नई फ़रारी के लिये आप को बधाई !

ललित शर्मा-ললিত শর্মা said...

भाटिया जी मजा लिजिए,
लेकिन काजु और पिस्ता कम खाईएगा।
हा हा हा

seema gupta said...

सवारी तो वाकई में लाजवाब है.......हा हा हा

regards

Arvind Mishra said...

वाह क्या शान है -शुभकामनाएं !

निर्मला कपिला said...

इतनी सुन्दर गाडी की सवारी हमे कब करवा रहे हैं?\पार्टी के लिये बधाई।

Akhtar Khan Akela said...

bhaayi jan ishvr aapki khushiyaa bnaaye rkhe or hr tmnna puri krta rhe bhut bhut bdhaayi h aapko mudn kaarykrm ke liyen , dsri baat yeh he ke aapne nyi trh ki gaadi dikhaa kr hmaare dil ko jhkjhor diya he or laalch pedaa ho gya he ke hm bhi is men sfr kren.

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

पार्टी में जाने की शुभकामनायें ...गाड़ी तो ठीक है न ?

ओशो रजनीश said...

बचपन में एक कहानी पढ़ी थी ....."ठेले पर हिमालय" .चित्र देख कर याद आ गयी ...अच्छा लेख आयर चित्र .....
( क्या चमत्कार के लिए हिन्दुस्तानी होना जरुरी है ? )
http://oshotheone.blogspot.com

दीपक 'मशाल' said...

समीर जी की बात सही है.. चित्र तो लाइए ही, वीडिओ भी..

अन्तर सोहिल said...

घूम आईये और पार्टी के मजे कीजियेगा
परसों आकर फोटो जरुर दिखाईयेगा जी
400 किमी केवल 3 घंटे में वाह!
यहां भारत में तो 400 किमी जाने के लिये कम से कम 8 घंटे लग जाते हैं। चाहे बस, कार या ट्रेन कोई भी यातायात का साधन हो।

प्रणाम

नरेश सिह राठौड़ said...

ये नयी गाड़ी कब से ले ली है | ये भारत में तो कही नहीं दिखती है मेड इन जर्मनी हो नहीं सकती है | हो सकता है शायद पाकिस्तान की हो | खैर नयी गाड़ी के लिए बधाई |

ताऊ रामपुरिया said...

मेरे लिये तो ये सिंगल बैल वाली कार ही भिजवा देना.:) इसपै बैठकै फ़ोटो खिंचवाना सै.

रामराम

मनोज कुमार said...

फिर मिलेंगे!
सवारी शानदार है

प्रवीण पाण्डेय said...

प्रतीक्षा रहेगी।

शरद कोकास said...

आपने नई गाड़ी ले ली बताया भी नही ? हाहाहा..।

ललित शर्मा-ললিত শর্মা said...


बेहतरीन लेखन के बधाई


पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर-पधारें

Vivek Rastogi said...

तीन घंटे में ४०० किमी..... !!

क्या वाकई सच्च्च है ...

ऐसा हमारे भारत में कब होगा...

सुनीता शानू said...

इन्तजार है जी चित्र जरूर खींच कर लाईयेगा :)

rashmi ravija said...

आप खूब आनंद उठायें, पार्टी का...एन्जॉय कीजिये...और वहाँ से सुन्दर चित्रों और विवरण की पोस्ट लगाइए , लौटकर...शुभकामनाएं

hem pandey said...

पोस्ट के माध्यम से इस सुन्दर सी गाड़ी के दर्शन हो गए | आशा है लौटने के बाद कुछ नया और उपयोगी और मिलेगा |

Babli said...

बहुत सुन्दर और शानदार प्रस्तुती!
शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें!

डॉ. मोनिका शर्मा said...

एन्जॉय कीजिये....लाजवाब है सवारी :)