25/06/10

टिपण्णियो की दुकान

आप सभी को जान कर हर्ष होगा कि अब ओर आज से हम ने टिपण्णियो की नयी दुकान खोल ली है, ओर हमारे पास हर प्रकार की टिपण्णियां मोजूद है, बाजार भाव से सस्ती ओर टिकाऊ, आप एक बार अजमा कर लेखे हमारी टिपण्णी, एक टिपण्णी सदियो चलेगी, आप खरीदे आप के पोते भी उसे पढ सकते है, हमारी टिपण्णीयां बहुत अच्छी है जिन्हे ना जंग लग सकता  है ना ही खराब हो सकती है, ओर ना ही कोई चोरी कर सकता है... आप की सुबिधा के लिये हम ने रेट लिस्ट नीचे लगाई है....

आप अपनी जेब देख कर हमे टिपण्णियो का आर्डर दे, याद रखे उधार प्रेम की केंची है, इस लिये पेसे पहले दे, पेसे मिलते ही आप को टिपण्णियां दे दी जाये गी, ओर टिपण्णियो का फ़लेट रेट भी है.
यह रही लिस्ट....
१. nice  नाम की टिपण्णी एक रुपये मै एक, २० इकट्टी लेने पर आप को २५ टिपण्णियां मिलेगी.
२, very nice टिपण्णी १,५० पेसो मै , २० इकट्टी लेने पर आप को २५ टिपण्णियां मिलेगी.
३, बहुत सुंदर, अति सुंदर वगेरा वगेरा नाम की टिपण्णियां  २ रुपये मै एक, २५ इकट्टी लेने पर आप को ३० टिपण्णियां मिलेगी.
४, २० शव्दो की टिपण्णी का मुल्य १०,०० रुपये रखा है, पांच इकट्टी लेने पर एक फ़्रि मै.
५, ४० शव्दॊ की टिपण्णी का मुल्ये१८,०० रुपये रखा है, पांच इकट्टी लेने पर एक फ़्रि मै.
 ६. ४१ शव्दो  से बडी टिपण्णियां स्पेशल आर्डर दे कर बनबानी पडे गी, इस लिये उन के बारे आप को हम से फ़ोन पर बात करनी होगी, ( ध्यान रखे फ़ोन चार्ज ००,५० पेसे प्रति मिन्ट होगा)
नोट....... मेम्बर लोगो के लिये हर टिपण्णी मै १० % की छुट होगी, वार्षिक मेम्बर के लिये १५% की छुट होगी.

एक बार हमारी टिपण्णियो की दुकान पर आये, ओर भी हजारो प्रकार की टिपण्णियां मोजूद है, पहले १०० ग्राहको को एक एक टिप्ण्णी मुफ़त मै मिलेगी

बेनामी टिपण्णियो के लिये कृप्या हमे क्षमा करे, गाली गलोच ओर लडाई झगडे वाली टिपन्नियो के लिये भी हमारे पास माल नही.
हम से समर्पक करने के लिये हमे फ़ोन करे, मेल करे, लेकिन याद रखे ऊधार प्रेम की केंची है, ओर आज नगद कल ऊधार होगा, हमारी गारंटी है सभी टिपण्णियां ताजी होगी, जो सालो साल ताज रहे गी.
तो आप सभी लोग देर ना करे ओर जल्दी से अपनी अपनी टिपण्णियां आज ही बुक कर ले, यह सब रियाती मुल्य है जेसे ही हमारी दुकान चमकेगी हम ने रेट दुगने कर देने है.
मेम्बर बनने के लिये हम से समपर्क करे.....ना०.... ०००१२३४५६७८९०
टेक्स अलग से लगे गा याद रखे, इस लिये बिना रसीद ही हमारी टिपण्णियां बुक करे

38 comments:

नरेश सिह राठौड़ said...

भाटिया साहब आप अपनी दूकान को सजा कर रखिये आजकल चमक दमक का ज़माना है कल ही समीरानंद जी कहा रहे थे की जो चीज बढ़िया पैकिंग में होती है वो ही ज्यादा कीमती होगी | टिप्पणियों की मांग तो पुरातन जमाने से अब तक चली आ रही है |

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

भाटिया जी आप बेचते ही हैं या खरीदते भी हैं। इधर कुछ माल बेचने के लिए पड़ा है।
अब ये न कहना कि बस्ती बसी नहीं चोर पहले ही आ धमके।

M VERMA said...

भाटिया जी मैं भी इसी धन्धे में हूँ. थोक में आपको भी चाहिये तो मेरे गलत फोन नम्बर पर डायल कीजियेगा.
धन्यवाद

आपके फोन के इंतजार में
एम वर्मा

Sofia Duglas said...

nice thinking, nice old man

वन्दना said...

हा हा हा…………………इस मंहगाई मे ये कारोबार तो खूब चलेगा………………आजकल तो हर कोई टिप्पणीयों का दीवाना है………………खुलते ही चल निकलेगी दुकान्।

शहरोज़ said...

मजेदार !!खूब चटखारे लिए .....भाई साहब आपने अच्छी ख़बर ली है!!

सुलभ § Sulabh said...

कृपया दुकान के बोर्ड पर यह भी लिखवा दें : "नक्कालों से सावधान, एकमात्र विश्वशनीय टिप्पणी की दुकान "

ब्लाग बाबू said...

अंकल मेरी तीन ईंडस्ट्रीज हैं माल की आवश्यकता होगी तब ईमेल भेज देना तत्काल माल सप्लाई करवा दूंगा धन्यवाद।

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

भाटिया जी कोई फ्री वाली स्कीम हो तो बोलो...नकद रोकडा खर्च करने वाला यहाँ कोई नहीं मिलेगा. फ्री में दोगे तो चाहे सारी दुकान दे देना. कोई मना नहीं :)

अन्तर सोहिल said...

हा-हा-हा
अच्छी पोस्ट है, मजा आया

हमें तो टिप्पणियों के रूप में आपका आशिर्वाद चाहिये जी
चाहे nice में दे या सुन्दर में
क्या आशिर्वाद के भी पैसे देने होंगें:-)

प्रणाम

काजल कुमार Kajal Kumar said...

नाइस
:)

अजय कुमार झा said...

राज जी , सेल्स मैन की जरूरत हो तो कहिएगा ..हम फ़टाक से अपनी रेहडी लेके आपके मौल के साथ ही उसे अटैच कर देंगे ।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

हमें तो फ्री फण्ड में ही चाहिएँ!

'उदय' said...

...फ़्रेंचाईसी की सुविधा हो तो हमें दे देना भाटिया जी ... जो भी लेना-देना होगा बैठकर समझ लेंगे !!!

'उदय' said...

... ये टेबुल के नीचे से एक लिफ़ाफ़ानुमा टिप्पणी स्वीकार करें !!!

निर्मला कपिला said...

भाटिया जी पहले सौ मे तो आ ही गये 16 वें टिप्पणी है मेरी इस का डिस्काऊँट मेरे खाते मे डाल दें आपने ये तो बताया नही कि जो 10 ग्राहक लायेगा उसे क्या डिस्काऊँट दिया जायेगा। पहली 101
टिप्पणी का मेरा आर्डर सवीकार करें -- नाईस { हिन्दी मे हो} धन्यवाद्

Ratan Singh Shekhawat said...

Nice,Nice,Nice ये तो सिर्फ़् सेम्पल है

नीरज जाट जी said...

.

नीरज जाट जी said...

ऊपर वाली टिप्पणी का रेट बताइये। चवन्नी में एक या दो?

girish pankaj said...

kyaa baat hai..? vaah.. sundar dookan.. khoob bikegaa maal. yahaa bhi ye karobaar fal-fool rahaa hai.

शिवम् मिश्रा said...

कोई annual package नहीं है क्या ?

'अदा' said...

nice,
very nice,
बहुत सुंदर,
अति सुंदर....
:)

राम त्यागी said...

ये सही रहा, कुछ क्यों बहुत सारी हम भी ले लेंगे
बड़ा सा आर्डर कर देते है थोक में ...कब तक डेलिवर हो जाएगा माल ? जेर्मनी से अमेरिका ...शिप्पिंग भी चार्ज कर रहे हो क्या ?
कस्टमर सर्विस का हॉट लाइन नंबर दे देना जी ....

राम त्यागी said...

और जन्मदिन मुबारक जी ....

बेनामी said...

हास्य तो बढ़िया रचा आप ने।
लेकिन यह प्रकरण गम्भीर भी है। ज़रा यहाँ पहुँचिए:
http://benamee.blogspot.com/2010/06/blog-post_23.html

जी.के. अवधिया said...

राज जी,

हम तो सिर्फ फ्री सैंपल्स से ही काम चलाते हैं। उपलब्ध है क्या?

प्रवीण पाण्डेय said...

इस कम्पनी के आई पी ओ की सूचना अवश्य दीजियेगा ।

प्रवीण पाण्डेय said...

जन्मदिवस की बधाईयाँ ।

संजय कुमार चौरसिया said...

bahut badiya bhatiyaji
hum bhi ab yahi soch rahe hain

डॉ टी एस दराल said...

हा हा हा ! भाटिया जी , आजकल तो एक के साथ एक फ्री का ज़माना है ।
वैसे पोस्ट भी बेचना शुरू कर दें । इनका भी अकाल सा पड़ा लगता है ।

जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवम शुभकामनायें ।

रंजना said...

हा हा हा हा....बढ़िया व्यंग्य...
वैसे यह बिजनेस सचमुच जबरदस्त चलेगा...

ललित शर्मा said...

जन्म दिन की ढेर सारी शुभकामनाएं

sajid said...

अच्छी पोस्ट है, मजा आया

सुज्ञ said...

भाई साहब,आप वो सस्ती वाली 1 रुपये 2 रुपये
वाली ना बेचा करे, सभी वही चेप के जा रहे हैं।
अन्यथा हमें क्वालिटी कंट्रोल में शिकायत करनी पडेगी,कि आप लौ-ग्रेड माल बेच रहे है। और सेल-टेक्ष का घपला सो तो अलग।

सुज्ञ said...

वह गुरू, मामला अब समझ में आया,
आप तो फ़ोकट में ही स्टाक किये जा रहे हैं
अब तक 35

माधव said...

सही कहा

हरकीरत ' हीर' said...

आहा .....तभी आपकी टिप्पणी हर जगह दिखाई दे रही है ......!!

वन्दना अवस्थी दुबे said...

येल्लो. आपने पहले ही खोल ली, वैसे मैने आपको बताया था क्या कि मैं टिप्पणियों की दुकान खोलने वाली हूं?