24/11/09

एक जरुरी सुचना सभी कवि लोगो के लिये

नमस्कार आप सब को, आप सब को सुचित करते हुये मुझे बहुत खुश हो रही है कि २७/११/२००९ को मैने अपने ब्लांग पर एक आंतक्षरी रखी है सिर्फ़ कविताओ के लिये, आप सभी लोगो को, कवियो को, ओर जो जो कवियाओ मै रुचि रखते है, मै उन्हे सब को अमंत्रित करता हुं,

इस आंतक्षरी मै आप ने अपने से पहली कविता के अन्त वाले अक्षर से अपनी , किसी अन्य कवि की कविता की कम से कम दो लाईने या पुरी कविता लिखनी है, या अपनी कविताओ की कापी कर के  पेस्ट कर देनी है, बस तो शुकर वार को मिलते है इस बंलाग पर कविताऒ की अंताक्षरी के संग.... पता यह है...  वेसे तो आप सभी जानते ही है, इस ब्लांग को आज भी तो गीतो भरी आंताक्षरी चल रही है जी.
धन्यवाद

18 comments:

  1. बहुत सुन्दर भाटिया जी!

    मैं कवि तो नहीं हूँ किन्तु बहुत सारी कविताएँ, दोहाएँ आदि अवश्य जानता हूँ, उसी से काम चलाउँगा।

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया विचार है यह .

    ReplyDelete
  3. जरुर आयेंगे..कुर्ता पायजामा तैयार कर लेते हैं.

    ReplyDelete
  4. हम भी इरशाद और मुक़र्रर भाई को लेकर आते हैं महफ़िल में !

    ReplyDelete
  5. आपका आमंत्रण स्वीकार कर लिया है जरूर आयेंगे धन्यवाद ...

    ReplyDelete
  6. अपने बस की नहीं है जी आपकी आंतक्षरी| जब तक कुछ लिखता हूँ वहाँ कुछ का कुछ हो चूका होता है सो ................बस शुभकामनाएं सभी को !

    ReplyDelete
  7. कोशिश जरुर करेंगे आभार
    regards

    ReplyDelete
  8. are waah.......main aaungi, baap re bhool n jaun ...........prize?

    ReplyDelete
  9. हम भी बस पहुँचते हैं "साहिर लुधियानवी" जी को लेकर....हमारी ओर से वो खेला करेंगें :)

    ReplyDelete
  10. वाह बहुत ही बढ़िया विचार है! सुचना देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  11. कृपया आप सभी लाइन में लगकर अपना गेट-पास ले लीजिये

    ReplyDelete
  12. वाह सही है बधाई

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये