27/06/09

अनामी टिपण्णी कार .साबधान अगर मेरी पकड मै आये तो

नमस्कार,
इस अनामी/अनामिका फ़्लू ने सब को बहुत परेशान कर रखा है, ओर इस का इलाज भी कठीन ओर महंगा है, लेकिन कुछ तो इलाज होगा ही, यह कोई लाईलाज तो नही है, फ़िर आज एक लेख मै किसी ने माना भी है कि....
चलिये अब सीधी बात करते है, मै अकसर अपने बच्चो से मदद लेता हुं, इन सब बातो के लिये, जब उनका मुड अच्छा हो तो मेरी पुरी मदद करते है, आज मै हिन्दी ब्लॉग टिप्स पर आशीष खण्डेलवाल जी के कुछ लेख पढ रहा था, जब टिपण्णी देने लगा तो नीचे ip एड्रेस्स के बारे देखा ओर बच्चो से पुछा कि बेटा यह मै केसे अपने ब्लागं पर लगाऊ,तभी मेरे बेटे ने जो बात बताई, मेरे दिमाग ने उस से काफ़ी जुगाड लगा लिया, इस से हम बहुत हद तक अनामी टिपण्णी देने वाली/वाले को पकड सकते है, यह सब आप के हाथ मै है.

सब से पहले तो आप इसे अपने ब्लांग पर लगाये... यह आप को आशीष जी से मिल जायेगा.
नोटः अपंजीकृत टिप्पणीकारों का आईपी एड्रेस दर्ज हो सकता है- फ़िर आप google पर जा कर आप Google Analytics यहां जा कर आप अपने ब्लांग को रजिस्ट्रर कर ले, फ़िर २४ घण्टो के बाद यह काम शुरु कर देगा, बस फ़िर कोई भी आप को अनामी टिपण्णी देगा उस का IP पता आप को मालूम होगा, जेसे मै पहले शारीफ़ बन कर आप को टिपण्णी दे दुं, फ़िर अनामी बन कर आऊ, या पहले मेने आप को कभी भी अपने नाम से टिपण्णी दी हो, किसी बात से मत भेद होने पर अनामी बन कर फ़िर टिपण्णी दुं, तो बस आप ने मेरी IP मिलानी है, चोर आप के सामने, तो मै तो इसे अजमा रह हुं, अगर आप चाहे तो आप भी इसे अजमा ले शायद यह जुगाड ही काम कर दे

41 comments:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

आप ने तो पूरी जासूसी लगा दी राज भाई और सब के लिए रास्ता खोल दिया।

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...
This comment has been removed by the author.
योगेन्द्र मौदगिल said...

Wah.............वाह प्रभु वाह

रश्मि प्रभा... said...

sahi hai........anam logon se pareshani nahi hogi

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

हमने तो SETTINGS>COMMENTS>Anyone - includes Anonymous Users ब्लॉक कर रखा है। क्या यह पर्याप्त नहीं है?
बाकी अगर कोई हमारी टिप्पणी पॉलिसी के विरुद्ध कमेण्ट करता है तो उसे मॉडरेट करने का हक है ही। वैसे कोई टिप्पणी मॉडरेट करने की जरूरत नहीं पड़ी। :)

ताऊ रामपुरिया said...
This comment has been removed by the author.
ताऊ रामपुरिया said...

आपने बहुत उत्तम और शांतिदायक सलाह दी और वो बेनामी पकड औजार आशीष जी ने आस्ट्रेलिया की युनिवर्सेसिटी से बुलवाकर हमारे ब्लाग पर भी लगा दिया है और चार संदिग्ध बेनामी लोगो की निशानदेही कर ली गई है.

उनकी कल वाली पोस्ट के बाद इस औजार का निर्माण अति आवशयक हो गया था. जिसके लिये उनको साधुवाद और आपको धन्यवाद.

रामराम.

Ratan Singh Shekhawat said...

अरे भाई साहब कोई कैसे ही टिप्पणी दे अपना क्या बिगाड़ लेगा ? अपन तो बिना टेंशन लिखते है कोई अनाम टिप्पणी दे या बेनाम , अनाम टिप्पणी देने वाला जाने या उसका भगवान जाने | कोई फर्क नहीं पड़ता |

बालसुब्रमण्यम said...

राज भाई आप तो अच्छे खासे शर्लक होम्स निकले। अब इन बेनामियों के बुरे दिन आ गए समझिए। ब्लोग जगत में कहीं नहीं छिप पाएंगे ये डरपोक। इनकी पीठ ताऊ जी की लाठी से जरूर बज उठेगी।

बालसुब्रमण्यम said...

हां, एक बात तो कहना ही भूल गया, आपको जन्मदिन की बधाई!

Arvind Mishra said...

soochee jaraa idhar bhee sarkaayen taaoo -jee bhar ke dekh lene ka iradaa hai !

परमजीत बाली said...

राज जी,सब से पहले जन्म दिन की बहुत बहुत बधाई
और एक अच्छी व उप्योगी जानकारी देने के लिए आभार।

डॉ. मनोज मिश्र said...

जन्म-दिवस की शुभकामनायें और जानकारी के लिए धन्यवाद .

रंजन said...

पकडा गया वो चोर है.. जो बच गया वो सयाना है...

अब शायद सयाने नहीं रहे..

मेरा ip है 122.173.254.51

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

HINDI BLOG JAGT EK KADAM AUR AAGE BADHA.......
THANX 2 U
MUMBAI-TIGER
HEY PRABHU YEH TERA PATH

राज भाटिय़ा said...

रंजन जी IP बताने की जरुरत ही नही जब भी आप मेरे ब्लांग पर आओगे, टिपण्णी दो या ना दो, बस आप का नाम दर्ज हो जायेगा, ओर जब भी मेने कोई गडबड की आप जा कर जिन पर शक है उनकी IP देख लो ओर बस पकडा गया,

उपाध्यायजी(Upadhyayjee) said...

Anaam kaa bhi kuchh mahatva hoga tabhi to blogspot ne anaam ka option de rakha hai. Agar kisi ko pasand nahin ho to wo option hata de. Ye to wahi baat hui ki Gud khaaye aur gulgule se parhez. Ek to anaam ka option set kar ke anaamiyon ko bulaya jata hai. jab wo aate hain to etraz hoti hai.

Waise ye IP address dhundhane ka tarika bahut achha hai. Lekin ek problem hai jee. Agar main apna modem ka reset button daba dun ( I mean internet ko disconnect kar ke phir se connect karun) to wo ek naya IP address le leta hai. Kyon ki bahuto ke pass fixed IP nahin hoti hai. Wo tabhi sambhav hai jab koi apane office ke internet se likh raha hai. Office me aksar leased line hota hai jo fixed IP address deta hai. Oos case me to khamah khah koi dusra pakda jayega.

राज भाटिय़ा said...

उपाध्यायजी, बेनामी टिपण्णी से सब तब परेशान होते है जब कोई बतमीजी से टिपण्णी देता है, या फ़िर गालियां देता है, बेनामी टिपण्णी उन लोगो के लिये है जो ब्लांगर तो नही लेकिन ब्लांग पढ कर अपनी राय देना चाहते है.
दुसरी बात आप ने IP की बात कही, यह बात सही है लेकिन आप की पुरी IP नही बदलती बस पिछे के तीन अक्षर ही बदलते है, इस के बावजुद भी आप की असली IP तो गुगल मे दिखाई देगी, जिस IP की आप बात कर रहे है शायद उसे डोमेनिश IP कहते है, जो कुछ डाऊन लोड के समय ज्यादातर काम आती है,केसे यह आप को मालूम ही होगा,

धन्यवाद

अमित जैन (जोक्पीडिया ) said...

bahut badiya tarika hai

शरद कोकास said...

अनामी और अनामिका का जवाब नहीं

Udan Tashtari said...

कोई पकड़ाया कि बस, पुलिस के समान बैठा है यह टूल?

Bhuwan said...

अनामी डाल-डाल... तो राज जी पात-पात... :-).

भुवन वेणु
लूज़ शंटिंग

रचना said...

track ip widget

सतीश पंचम said...

बढिया जानकारी ।

Gagan Sharma, Kuchh Alag sa said...

अब पता चलेगा कि पहाड़ ऊंचा है कि ऊंट

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

लगता है कि यहां कुछ दिनों में एक "ब्लाग पुलिस" विभाग भी शुरू होने वाला है, जिसमें भाटिया जी को ब्लाग इन्स्पैक्टर की पोस्ट मिलनी तय है..:)

राज भाटिय़ा said...

मेरे किसी भी ब्लांग पर कोई पकड धकड नही, क्योकि हम है फ़क्क्ड आदमी जो आये हमे अच्छा कहे बुरा कहे कोई फ़र्क नही पडता,
हां हमारे घर आ कर पडोसियो को या फ़िर हमारे मेहमानो को धमकाओ तो ..... तु किसी ओर को धमकाओ तो मुश्किल होगी

ताऊ रामपुरिया said...

लो जी हम आगये अब हमको पकड कर दिखाईये तब मानेंगे..

पर ये क्या आपने तो अनाम [ अनामिकाओं को टिपणी सुविधा ही बंद कर रखी है?

रामराम.

अल्पना वर्मा said...

यह न केवल अनामियों को बल्कि उनको भी करने में सहायक होगा जो नकली नाम से बना कर उलटी सीधी टिप्पणी करते हैं-यह टूल सच में बहुत बढ़िया है..क्योंकि जो अमूमन Stat काउंटर का विजेट लोग अपने ब्लॉग पर लगाए हुए हैं Wah सिर्फ wahin काम करता है जहाँ java enabled browser se Anaami--aap ki site par hain है..अगर koi java applet को disable कर ke comment karega तो wah [stat counter wala widget us ka address नहीं note kar payega.

us sthiti mein yah widget better lag raha hai.

अल्पना वर्मा said...
This comment has been removed by the author.
अल्पना वर्मा said...

correction--[ न केवल अनामियों को बल्कि उनको भी trace karne में सहायक होगा जो नकली नाम से I D बना कर उलटी सीधी टिप्पणी करते हैं-]

विवेक सिंह said...

हो क्या रहा है ये ! जिस बेचारे के पास अपना नाम भी नहीं उसी के पीछे सब पड़े हैं :)

MAYUR said...

मुझे तो ये समझ नहीं आता , सारी चाबियाँ आपके ही पास हैं, अनामी टिपण्णी देने के आप्शन को बंद कर दें, फ़िर भी कोई गलत आई डी बनाकर लिख जाए तो उसे permanantly डिलीट कर दें , और इन सब के साथ कमेन्ट माडरेशन चालू रखें , गड़बड़ टिप्पणियों को प्रकाशित ही न करें . इतनी सारी पुलिसिंग कि ज़रुरत ही नहीं है,
आपके ब्लॉग पर जितने ज्यादा गद्गेट्स या स्क्रिप्ट्स होंगी वो उतना ही धीमा खुलेगा .

अविनाश वाचस्पति said...

बेनामी या अनामी
अथवा हो अनामिका
उनके दिन अच्‍छे
रहे ही नहीं कभी
पता लगा है अभी


चना हो या दाल
करते हैं बवाल
सब्‍जी में भी
ला देते हैं उबाल।

सीधा हो उत्‍तर
करते हैं सवाल
फिर भी अजय
करते हैं निरुत्‍तर।

हरेक का अपना
है देखो चरित्‍तर
बनाता है मित्र
या खींचे चित्र।

अविनाश वाचस्पति said...

बेनामी या अनामी
अथवा हो अनामिका
उनके दिन अच्‍छे
रहे ही नहीं कभी
पता लगा है अभी।

चना हो या दाल
करते हैं बवाल
सब्‍जी में भी
ला देते हैं उबाल।

सीधा हो उत्‍तर
करते हैं सवाल
फिर भी अजय
करते हैं निरुत्‍तर।

हरेक का अपना
है देखो चरित्‍तर
बनाता है मित्र
या खींचे चित्र।

Mumukshh Ki Rachanain said...

राज भाई,

राज को राज रहने दो, अगर..............

सुन्दर, ज्ञानवर्धक जानकारी का शुक्रिया.

चन्द्र मोहन गुप्त

SUNIL DOGRA जालि‍म said...

वाह राज जी, अब तो चोर का मोर बन जायेगा..

SUNIL DOGRA जालि‍म said...

वाह राज जी, अब तो चोर का मोर बन जायेगा..

अविनाश वाचस्पति said...

डोगरा जी मोर भी नहीं बनवाना
मोर माने अधिक
मतलब ज्‍यादा हो जाएंगे
तो गुट नया बनायेंगे


मोर माने लस्‍सी
फिर तो न जाने
कितनों को डुबाएंगे।

या मोर माने
नाचने वाला
वो भी अच्‍छा लगता है
तो क्‍या बेनामियों को
ब्‍लॉगग्रह पर नचवायेंगे।

प्रकाश गोविन्द said...

क्या कोई विद्वान मुझे बतायेगा कि मेरे ब्लॉग पर यह टूल काम क्यों नहीं कर रहा है ?

(अभी आपकी पोस्ट पढ़कर जैसा आपने बताया है वैसे ही मैंने किया था )

गौतम राजरिशी said...

है तो बड़ी ही रोचक जानकारी भाटिया जी, लेकिन मैं सोचता हूँ कि इन बेनामी टिप्पणी के लिये सबसे अच्छा व्यवहार है just ignore them....