23/12/08

खुशी

आज मेरे छोटे बेटे ( अंकुश) ने जो अभी १६ साल का है,( २८ दिसम्बर को १७ का हो जायेगा,) उस ने आज ड्राईविंग लाईसेंस के दोनो पेपर पास कर लिये, लेकिन २८ से पहले वो कार नही चला सकता, लेकिन मुझे ओर घर मै सब को बहुत खुशी है, ओर अब हमारी बीबी के तीन ड्राईवर हो गये , बडे बेटे ( अंकुर)ने एक महीना पहले लाईसेंस बनबाया था.
आप सब के साथ मै अपनी यह खुशी बांट रहा हुं, क्योकि आप सब को मै अपना ही समझता हुं.
धन्यवाद

26 comments:

रश्मि प्रभा said...

kitna achha lagta hai apne jaayon ko apne aage badaa hote dekhna......main aapki khushi mein poori tarah shreek hun,badhaai ho.....

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

बहुत खुशी की बात है दूसरे भतीजे ने भी कार चलाने का लाइसेंस पा लिया . आपको बधाई अब तक तीन कारो की व्यवस्ता करी या नही

"अर्श" said...

aapke chote suputra ko dhero badhai sath me aapko bhi ...

संगीता पुरी said...

आपकी खुशी में हम सब आपके साथ हैं.... आपके पूरे परिवार को बहुत बहुत बधाई।

Alag sa said...

भाटिया जी,
आपने हम सब अनदेखे अपनों को अपना समझ कर खुशी बांटी, बहुत अच्छा लगा। पूरे परिवार को मेरी शुभकामनाएं।

एक बात, जरा प्राईवेट है, अब जरा पोलाइट रहियेगा क्योंकि अब भाभीजी के पास च्वायस बढ गयी है तो--- आप समझ रहे हैं ना !

P.N. Subramanian said...

बेटे को आने वाले जनम दिन की अग्रिम बधाई दे दें. हमारे यहाँ तो लाइसेंस बागेर किसी परीक्षा के बन जाता है. चाहे ट्रक की हो या ट्रॅक्टर की.

Mired Mirage said...

बधाई हो।
घुघूती बासूती

अल्पना वर्मा said...

हमें भी बहुत खुशी हुई.
बहुत बहुत बधाई.
और ढेर सारी शुभकामनायें

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

बधाई। आप को और आपके बड़े बेटे को, इस लिए कि आप की ड्राइवरी की ड्यूटी के लिए एक रिलीवर मिल गया। छोटे को इस लिए कि उसे लायसेंस मिल रहा है। और भाभी को इस लिए कि उसे एक ड्राइवर और मिल रहा है।

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी said...

बधाई बेटे को... और भाभी जी को भी। आपका भी काम आसान हो गया सो आपको भी। पुनः बधाई।

ताऊ रामपुरिया said...

सबसे पहले तो चि. अंकुश को जन्मदिन की हार्दिक बधाई ! और कार का लायसेन्स प्राप्त करने की बधाई ! हम आयेंगे तो अब हमको भी वही घुमा देगा ! आराम हो गया अब तो ! आपकी खुशियों मे हम भी शामिल हैं ! आपके पुरे परिवार को बधाई और शुभकामनाएं !

राम राम !

अनुपम अग्रवाल said...

badhaai .

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

बधाई हो अँकुश बेटे को
और आप सभी को --

Vidhu said...

बधाई हो...happy birth day ankush,in advance...

Arvind Mishra said...

अब तो सभी अलग अलग बधाई के पात्र हो गए ! और सामूहिक तौर पर भी ! बधाईयाँ !

बी एस पाबला said...

भई, हमें तो पहले ही लड्डू-भोज का निमंत्रण मिल चुका है!

बधाईयाँ।

रंजन said...

बधाई, भाटीया जी..

seema gupta said...

आपकी खुशी में हम सब आपके साथ हैं.... ढेर सारी शुभकामनायें आपके पूरे परिवार को बहुत बहुत बधाई।

Regards

Gyan Dutt Pandey said...

बधाई हो जी। और आप हमसे खुशी शेयर कर रहे हैं - उसका धन्यवाद।

रंजना said...

आपके पुत्र को जन्मदिन की अग्रिम बधाई......ईश्वर उसे दीर्घजीवी और संस्कारी बनायें.
और आपका आभार कि इतनी निश्छलता और स्नेह से आपने हमें अपने परिवार सा ही अपनी खुशियों में शामिल किया.
बच्चों को बढ़ते देखना सचमुच अद्भुद सुखदायक होता है.

G M Rajesh said...

happy birth day

समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...

लाइसेंस और आपकी खुशी में मै भी शामिल हूँ
अब आप खुश जाइए बड़ा दिन आने की खुशी में

क्रिसमस की शुभकामना के साथ

Poonam Agrawal said...

Ye vakai khushi ki baat hai....aapki khushi mein hum sab aapke saath ahi...aapki khushi main shamil hoker bahut hi achcha lag raha hai.....Badhai

राज भाटिय़ा said...

आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद् आप मै से कोई भी यहां आये तो हम हाजिर है,जब तक आप हमारे यहां रहेगे तो सारी जिम्मेदारी हमारी होगी, ओर ताऊ जी जब भी आओ थोडा पहले बतादो.. बस फ़िर आप को खुब घुमायेगे, जिन्होने भी यहां घुमने आना हो तो गर्मियो मै ही अपना प्रोगराम बनाये, सर्दियो मै आना एक तो बेकार है, दुसरा बहुत खर्चीला है,ओर घुमने का मजा भी नही आता जब बाहर -१०,-२० डिग्री हो तो, ओर तेज सर्द हवाये....
फ़िर से आप सब का धन्यवाद

दिलीप कवठेकर said...

आपकी खुशियों में शामिल होने से यूं लगा कि मेरा परिवार अब कितना बडा है.

आप की प्रसन्नता को अधिक नज़दीक से समझ सका क्योंकि मेरी बिटिया के लिये भी मैनें अभी अभी लाईसेन्स प्राप्त करने का प्रोजेक्ट पूर्ण किया. दिन भर की मशक्कत, फोटो लेने वाली जगह पर लाईट की कमी, सब्ज़ी मार्केट सी फ़िज़ा, वाह क्या खूब नज़ारा था.

वैसे कहां है आप , कहां किस कोने में हूं मैं, ये गौण है. महत्वपूर्ण है कि आप और हम सुख दुख के एक धागे में बंध से गये हैं, एक परिवार हो गये हैं.यहीं ज्योत से ज्योत जगाते चलने की उपादेयता साबित होती है, और दिल से दिल के मिलने की इस शोर्ट कट व्यवस्था में विश्वास मज़बूत होता है.

हमें और क्या चाहिये?अब कितने भी मुम्बई ब्लास्ट आ जायें,नेताओं के कार्टून भरी हरकतें होंगी, महंगाई और रिशेशन की मार हो, हम सब लोग मिल कर इसे धनात्मक सोच के साथ झेलेंगे यही परमेश्वर से प्रार्थना... आमीन..

आपको क्रिसमस की शुभ कामनायें..

राज भाटिय़ा said...

दिलीप कवठेकर जी आप का बहुत धन्यवाद , आप के प्यार भरे सन्देश का. कभी मिलाना जरुर होगा आप सब से.
आपको भी क्रिसमस की खुब शुभ कामनायें..