04/11/08

ताऊ का नया काम

आईये आज थोडा मुस्कुराले, वो कहते है ना रोजाना दिल खोल कर हंसना चाहिये??? तो जनाब अब हंसने के लिये तेयार हो जाये,हंसी ना आये तो मुस्कुराहट तो जरुर आ जायेगी आप के चेहरे पर, बस यही मुस्कुराहट तो चाहिये हमें।
तो चलिये थोडा प्यार से यहा एक बार दबाये ओर पहुच जाये हंसी की दुनिया मै....

8 comments:

  1. हमने सोचा ताउ के बदले ताई होतीं तो क्या बोलती

    ReplyDelete
  2. भाटियाजी, इब यही होगा.. गधे को बठाओ कुर्सी पर तो, लात तो खाण पड़ेगी ही उसकि !
    अपणे ताऊ की बुद्धि आजकल घास चर रही सै..
    हमलोग गधे को बाप का दर्ज़ा देवे हैं, मुसीबत के समय..
    ताऊ उसको बेटा बनावण चले, तो खावैं लात !

    ReplyDelete
  3. अहा! मना किया था न मीन्टोस मत खिलायो .दिमाग की बत्ती जलेगी

    ReplyDelete
  4. भाटिया जी
    ताऊ की के रीस हो सकै
    सर एक बात और बत्यादूं
    सयाणे की रीस तो वै करै जो टांग ठा कै मूत्तै
    एक बात की बधाई भाई जी
    अक्
    ब्लागों पै ताऊवाद की जड़ जमगी
    आपकी सैटिंग जबरदस्त है
    बाकि दाे लाइनें अरज है

    गधा गधा ई रह्वै सै प्यारे
    गधे नै इबलग बोज्झाई ढोया
    thanx

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये