20/09/08

एक छोटा सा सवाल

आप इस सवाल तक पहुचने के लिये यहां चटका लगाये

1 comment:

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा said...

यदि हर इंसान उतना ही ले जितना उसे चाहिये, ज्यादा ना ले तो दुनिया मे गरीबी ना रहे, ओर कोई व्याक्ति भूखा ना मरे.
poorn rup se sahamat hun .