17/09/08

उलटा चोर कोतवाल को डांटे

अगर आप इस चुटकले कॊ पढना चाह्ते हे तो यहां चटका लगाये.

8 comments:

  1. आप कहते हैं तो मै कल ही उस डामेन को डीलीट कर दूंगा। या रीडायरेक्ट होता है तो रीडायरेक्ट कर दूंगा :)

    डिलीट करने वाला आत्मविशवास बढ गया है।
    वैसे मै उस ब्लाग पर विरोध नही कर रहा था बस पोस्ट की खीचडी बना रहा था। :)))))

    ReplyDelete
  2. मैं कल भी आया था पर कल आपका टिप्पणी बक्सा खुला नहीं. फिर लाइट चली गयी.
    कल वा दृष्टान्त बहुत ही प्रेरक था.

    ReplyDelete
  3. कुन्नु भाई मस्त रहो , लगी रहने दो

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  5. मैने ईस साईट को रीडायरेक्ट कर दिया है। आप virodhe.blogspot खोलेंगे तो मेरा साईट खूल जाएगा।

    बिल देने से पहले भाग जाएं पसीना नही आएगा :)))

    उप्पर वाला कमेंट डीलीट करना पडा क्यो की दूसरा ब्लाग प्रोफाईल लागईन था। और आप सोचते ये नया बंदर कहां से आ गया।

    ReplyDelete
  6. bahot din se aapka koe bhi comment mere lekh par nahin dekh kar aage likhne ki tonic nai mil raha, koe galti hua ho to plz bataeye ya maf kijiye, par bataeye jaroor, dhnyabad

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये