26/07/08

पति या गधा

एक साहिब बाहर से घबराये हुये आये, ओर बोले अजी सुनती हो आज जब मे बाजार से निकला तो एक गधे ने....
पति की बात पुरी भी नही हुई कि उन की छोटी बेटी भागी भागी आई, ओर बोली मामी मामी भईया ने मेरी गुडिया छीन ली हे, मां ने बेटे कॊ समझाया.
मियां फ़िर बोले , जब मे बाजार से निकला तो एक गधे ने ?????
अभी बात पुरी भी नही हुई छोटा बेटा रोता रोता आया,मामी मामी मुझे भाई ने पीटा, मां ने भाई को डांटा.
जनाब फ़िर से बोलने लगे जब मे बाजार से ?????
तभी बडा बेटा आया, तो मां सब बच्चो से चीख कर बोली सब चुप हो जाओ, पहले मुझे गधे की बात सुनने दो :( :( :( :(......
****************************
दो प्रकार के पुरुष स्त्रियों को नही समझते - विवाहित और कुंवारे ।
*********************************************************
जो सरकारी नहीं होता वही तो असरकारी होता है। एक आशावादी सोचता है कि गिलास आधा भरा है, निराशावादी का विचार होता है कि गिलास आधा खाली है, पर एक यथार्थवादी जानता है कि वह आसपास बना रहा तो अंतत: गिलास उसे ही धोना पड़ेगा।
*********************************************************
प्रत्येक दिन को अपना अंतिम दिन मानकर चलो ..... एक दिन तुम सही साबित हो जाओगे ।

9 comments:

  1. हा हा हा हा बहुत बढ़िया काम कर रहे हैं आप। इससे बढ़िया खुराक कोई नहीं। सस्नेह

    ReplyDelete
  2. अच्‍छा जोक है। आशा है आगे भी आप इसी प्रकार अच्‍छे जोक सुनवाते रहेंगे।

    ReplyDelete
  3. रोज़ाना हास्य की पुडिया ले कर हाज़िर हो जाते हैं आप.बहुत बहुत शुक्रिया.

    ReplyDelete
  4. १. गधे की बात .. गजब की है .. पुरे ५ स्टार !

    २. दो प्रकार के पुरूष.. तीसरे वाले को समझने की
    जरुरत ही नही :) पुरे ५ स्टार

    ३. सरकारी/असरकारी = बीच में यथार्थवाद
    पुरे ५ स्टार !

    ४. प्रत्येक दिन अन्तिम...आज के लिए इससे
    सुंदर कोई विचार नही हो सकता !
    पुरे ५ स्टार !

    हमने दबाए हैं ५ स्टार !

    ReplyDelete
  5. jab tanaw had se badh jaaye to bus aapko yaad karna hi kaafi hai,mazaa aa jaata hai dhanyawad

    ReplyDelete
  6. हा हा!! बहुत सही..यथार्थवादी वाला अद्भुत है.

    -लगता है भारत यात्रा में कोई किताब खरीद लाये हैं रेल्वे स्टेशन से चुटकुलों वाली. :)

    ReplyDelete
  7. प्रत्येक दिन को अपना अंतिम दिन मानकर चलो ..... एक दिन तुम सही साबित हो जाओगे

    अल्लाह जाने अब हम कब सही साबित होने वाले है!!हा हा हा सही है

    ReplyDelete
  8. आप सभी का धन्यवाद

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये