17/07/08

बेचारी ल ड कि या

3 लड़कियां आपस में बात कर रही हैं पहली : यार, पता है कल मुझे सर के टेबल से कॉन्डम मिला दूसरी : हां, और मैंने उसमें सुई चुभो दी... तीसरी : कमबख्त, मुझे मरवा दिया ना तूने...
***********************************************
शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती है, जरा गौर कीजिए... पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ खाया नहीं
दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं
तीसरे साल: खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना
चौथे साल: खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाजार जा रही हूं, खुद ही निकालकर खा लेना
पांचवे साल: मैं कहती हूं आज मुझसे खाना नहीं बनेगा, होटल से ले आओ
छठे साल: जब देखो खान, खाना और खाना, अभी सुबह ही तो खाया था...

9 comments:

सजीव सारथी said...

good jokes

परमजीत बाली said...

Bahut Bdhiyaa!!Dono bahut achchhe lage

अभिषेक ओझा said...

लड़कियों पर आजकल आपकी बहुत मेहरबानी है :-)

DR. UDAY MANI KAUSHIK said...

मुक्तक .......
हमारी कोशिशें हैं इस, अंधेरे को मिटाने की
हमारी कोशिशें हैं इस, धरा को जगमगाने की
हमारी आँख ने काफी, बड़ा सा ख्वाब देखा है
हमारी कोशिशें हैं इक, नया सूरज उगाने की ..........
डॉ उदय 'मणि' कौशिक
09414260806
HINDI KI SHRESHTH KAVITAON GAZALON KE LIYE DEKHEN
http://mainsamayhun.blogspot.com

सचिंद्र राव said...

badiya jock.

P. C. Rampuria said...

पहले आले पे दिल से निकली मुस्कराहट पर
दुसरे नै सारा मुंह का स्वाद ही किरकरा कर दिया !
म्हारी गिनती तो छठे के भी कईयों छठे के बाद सै !
इब थम सोच ल्यो हमको किस तरिया के लंच - डिनर मिलते होंगे ?

Udan Tashtari said...

haa haa!!

Gyandutt Pandey said...

सातवें साल - खाना? होटल समझ रखा है क्या?!

राज भाटिय़ा said...

आप सभी का धन्यवद