03/04/11

मस्ती मस्ती ओर मस्ती.....

भाई हम कई दिनो से मस्ती के मुड मे थे... लेकिन बहाना नही मिल रहा था, कि कैसे आप सब को छोड कर जाये, फ़िर यह क्रिकेट आ गया, जिसे मै बिलकुल पसंद नही करता, लेकिन पिछली बार जब आस्ट्रेलिया से हमारा मेच था तो मुझे एक भारतिया होने के नाते इस देश की करतूतो से इस देश से खूंदक थी, तो सोचा चलो अपने देश को जीताये... फ़िर पाकिस्तान आ गया, यह तो उस से भी बडी खुंदक इसे भी जीता दिया.... बाप रे अब सामने कप दिखा तो इसे भी तो घर ले कर आना था, तो सारा जोर इसे लाने पर लगा दिया, फ़िर मस्ती ही मस्ती.. ..
ओर अब  सोचा थोडे दिन इस ब्लागिंग से दुर रहे, ओर मस्ती करे..... तो आप सब को राम राम मिलते हे ब्रेक के बाद... ओर हां नीचे कुछ टिपण्णियां छोड रहा हुं, जिसे चाहिये वो इज्जत से इसे ले कर मेरी तरफ़ से अपने ब्लाग पर मेरे नाम से लगा सकते हे... राम राम

१ बहुत सुंदर
२अति सुंदर
३बहुत सुंदर प्रसुति
४अति सुंदर प्रसुति
सुंदर ओर भावुक रचना
सुंदर ओर भावुक लेख
वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
आप के लेख से सहमत हे
क्या बात हे
आप के लेख ने मन के तार छु लिये
वगेरा वगेरा...
ओर आप सब को भारत की जीत की बहुत बहुत बधाई..
मिलते हे ब्रेक के बाद कभी किसी मोड पर.......

35 comments:

  1. बहुत सुंदर
    २अति सुंदर
    ३बहुत सुंदर प्रसुति
    ४अति सुंदर प्रसुति
    सुंदर ओर भावुक रचना
    सुंदर ओर भावुक लेख
    वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
    आप के लेख से सहमत हे
    क्या बात हे
    आप के लेख ने मन के तार छु लिये

    ReplyDelete
  2. १ बहुत सुंदर
    २अति सुंदर
    ३बहुत सुंदर प्रसुति
    ४अति सुंदर प्रसुति
    सुंदर ओर भावुक रचना
    सुंदर ओर भावुक लेख
    वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
    आप के लेख से सहमत हे
    क्या बात हे
    आप के लेख ने मन के तार छु लिये

    आपको किसी की नज़र न लगे।

    ReplyDelete
  3. बहुत ही बढ़िया
    मज़ा आ गया

    ReplyDelete
  4. ये नहीं बताओगे कि जा कहां रहे हो?

    ReplyDelete
  5. सुंदर ओर भावुक लेख :))

    ReplyDelete
  6. अरे अरे मेरा माल मुझे ही चेप रहे हो...:)राम राम केसा जमाना आ गया

    ReplyDelete
  7. टीम इण्डिया ने 28 साल बाद यह सपना साकार किया है।
    एक प्रबुद्ध पाठक के नाते आपको, समस्त भारतवासियों और भारतीय क्रिकेट टीम को बहुत-बहुत शुभकामनाएँ प्रेषित करता हूँ।

    ReplyDelete
  8. वाह... मजा आ गया ! बधाईयां...
    वैसे ये छुट्टियां कहाँ मन रही है ?

    ReplyDelete
  9. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (4-4-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    ReplyDelete
  10. ये भी खूब रही.

    ReplyDelete
  11. बहुत सुंदर,अति सुंदर,बहुत सुंदर प्रसुति,अति सुंदर प्रसुति,सुंदर ओर भावुक रचना,सुंदर ओर भावुक लेख,वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी,आप के लेख से सहमत Nahee हे
    :)

    ReplyDelete
  12. इस उपलब्धि के लिए भारतीय टीम को प्रत्येक भारतीय की तरफ से हार्दिक बधाई ...आपका आभार

    ReplyDelete
  13. जी ...मौजा ही मौजा ..

    ReplyDelete
  14. इतनी मस्ती कि आप ने मिली हुई सब टिप्पणियाँ बाँट दीं।

    ReplyDelete
  15. वाह जी बल्ले बल्ले

    ReplyDelete
  16. बहुत बढ़िया .... आप लौटकर ये टिप्पणियां देंगें तो ज़्यादा अच्छा लगेगा....

    ReplyDelete
  17. .

    मस्ती के मूड में कोई यूँ तो दूर नहीं जाता । आप हमारे साथ ही रहिये। ब्लौगिंग से दूर भी कोई जिंदगी है भला?

    आपकी उपलब्ध करायी हुई टिप्पणियां किसी के ब्लॉग पर फिट हो न हों , मेरे विमर्शों पर तो बिलकुल नहीं फिट हो रहीं ....खैर एक है जो मैच करेगी मेरे लेखों से...."आपसे सहमत हूँ "--यही वाली आपके नाम से लगा लूंगी अपने लेखों पर।

    By the way , आप वापस कब आ रहे हैं ? शीघ्र वापस आयें । तब तक के लिए शुभकामनाएं ।

    .

    ReplyDelete
  18. ढेरों-ढेर बधाई.

    ReplyDelete
  19. हैप्पी होलिडेज़...आपको मिस करेंगें....

    ReplyDelete
  20. हा हा...मजा आ गया ....

    ReplyDelete
  21. बहुत सुंदर
    अति सुंदर
    बहुत सुंदर प्रसुति
    अति सुंदर प्रसुति
    सुंदर ओर भावुक रचना
    सुंदर ओर भावुक लेख
    वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
    आप के लेख से सहमत हे
    क्या बात हे
    आप के लेख ने मन के तार छु लिये
    यह भी खूब रही !
    बधायी विश्वजेता होने का !

    ReplyDelete
  22. १ बहुत सुंदर
    २अति सुंदर
    ३बहुत सुंदर प्रसुति
    ४अति सुंदर प्रसुति
    सुंदर ओर भावुक रचना
    सुंदर ओर भावुक लेख
    वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
    आप के लेख से सहमत हे
    क्या बात हे
    आप के लेख ने मन के तार छु लिये

    ReplyDelete
  23. १ बहुत सुंदर
    २अति सुंदर
    ३बहुत सुंदर प्रसुति
    ४अति सुंदर प्रसुति
    सुंदर ओर भावुक रचना
    सुंदर ओर भावुक लेख
    वाह वाह मेरी मन की बात लिख दी
    आप के लेख से सहमत हे
    क्या बात हे
    आप के लेख ने मन के तार छु लिये
    वगेरा वगेरा...
    ओर आप सब को भारत की जीत की बहुत बहुत बधाई..
    मिलते हे ब्रेक के बाद कभी किसी मोड पर.......

    ReplyDelete
  24. जल्दी वापस आइए।

    ReplyDelete
  25. जल्दी वापस आइए जी।

    ReplyDelete
  26. मस्ती के मूड में थे और वहाना नहीं मिल रहा था ,मस्ती के लिये भी वहाना ? और ब्लोगिंग को छोड कर मस्ती ? क्यों मजाक करते है साहब

    ReplyDelete
  27. कुछ वर्ड कप जितने की ख़ुशी में मस्ती मनाने तथा कुछ निजी कार्यों में व्यस्त रहने के कारण मै देर से आया. इसके लिए माफ़ी चाहता हूँ.
    बहुत अच्छा ज्ञान दिया है आपने....
    इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है. इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं ……

    ReplyDelete
  28. कुछ वर्ड कप जितने की ख़ुशी में मस्ती मनाने तथा कुछ निजी कार्यों में व्यस्त रहने के कारण मै देर से आया. इसके लिए माफ़ी चाहता हूँ.
    बहुत अच्छा ज्ञान दिया है आपने....
    इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है. इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं ……

    ReplyDelete
  29. कुछ वर्ड कप जितने की ख़ुशी में मस्ती मनाने तथा कुछ निजी कार्यों में व्यस्त रहने के कारण मै देर से आया. इसके लिए माफ़ी चाहता हूँ.
    बहुत अच्छा ज्ञान दिया है आपने....
    इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है. इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं ……

    ReplyDelete
  30. कुछ वर्ड कप जितने की ख़ुशी में मस्ती मनाने तथा कुछ निजी कार्यों में व्यस्त रहने के कारण मै देर से आया. इसके लिए माफ़ी चाहता हूँ.
    बहुत अच्छा ज्ञान दिया है आपने....
    इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है. इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं ……

    ReplyDelete
  31. अति सुन्दर विचार और पोस्ट भी.

    ReplyDelete
  32. भाटिया जी , कहाँ चल दिए , इधर तो आओ
    अज़ी मान भी जाओ , मान भी जाओ ---

    शुभकामनायें जी ।

    ReplyDelete
  33. हे भगवान! ये प्रस्तुति को क्या प्रसूति प्रसूति लिख रहे हैं आप ! प्रसूति किसके हुई? लड़का हुआ या लड़की? ये भी बताते जाइए.हा हा हा

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये