08/07/10

लिजिये हम आप को उस ओक्टोपुस के दर्शन करवा दे, जो दुनिया भर मै चर्चा का विषय बन गया है

फ़ुट्बाल मेच अब अपने अंतिम दॊर पर पहुच गया है, बस दो मेच बाकी रह गये है एक शनि वार को होगा, दुसरा रवि वार को, जब यह मेच युरोप मे हो, ओर दो युरोप की टीमे आमने सामने हो तो उस देश मै जहां मेच हो रहा हौ उस नगर मै एक्स्ट्रा पुलिस फ़ोर्स तेनात होती है, खिलाडियो मै तो तनाव होता ही है लेकिन बाहर दर्शन भी कई बार भावुक हो कर लडाई झगडा कर बेठते है, आज से आठ साल पहले फ़रांस मै एक पुलिस वाले को मार दिया था,इग्लेंड के दर्शको ने... इस बार भी मेच स्पेन ओर नीदर लेंड का है, लेकिन अफ़्रिका मै होने के कारण लडाई का डर तो नही, लेकिन मेच देखने लायक जरुर होगा.
जब कल जर्मन हारा तो सब को उदास कर गया, लेकिन साथ ही सब ने स्पेन की तारीफ़ भी बहुत की, जर्मन के बारे कोई कुछ कहता है तो कोइ कुछ, कुछ लोग उस ऒकटोपुस को ही जिम्मेदार मानते है, लेकिन ज्यादा तर जर्मन इसे एक बकवास मानते है, आप चाहते है उस हीरो ऒकटॊपुस को देखना तो यहां किल्क करे, ओर फ़िल्म को बडा कर के भी देख सकते है.
ओर हमे दे शुभकामनाये पहले नहि तो तीसरे ना० पर ही आ जाये, कुछ इज्जत तो बचे, हमारे जर्मन की...ओर बताये केसा लगा हमारा हीरो

25 comments:

  1. अच्छी जानकारी दी है....हमारी शुभकामनायें

    ReplyDelete
  2. बहुत खतरनाक भविष्यवाणियां करता है ये.

    ReplyDelete
  3. कर लिए ऑक्टोपस बाबा के दर्शन...जय हो ऑक्टोपस बाबा की.

    ReplyDelete
  4. तो ये है असली हीरो
    कर लिया जी दर्शन

    ReplyDelete
  5. हमें तो लग रहा था कि जर्मनी ही एक नंबर होगा पर ये तो गज़ब ही गो गया. लेकिन जब इतने आड़े समय दो कप्तानों में इतना भयंकर मनमुटाव हो जाए तो टीम क्या...देश को भी बुरा समय देखना ही पड़ता है. बहरहाल मेरी शुभकामनाएं कि तीसरा स्थान ज़रूर मिले.

    ReplyDelete
  6. दर्शन कर रही हूं !!

    ReplyDelete
  7. बड़ा रोचक है ऑक्टोपस जी का व्यवहार । केवल फुटबॉल ही बताते हैं या और कुछ भी ।

    ReplyDelete
  8. यह वही करता है जो इसका मालिक बोलता है !

    ReplyDelete
  9. सुना तो हमने भी था और हैरानी भी बहुत है , भविष्यवक्ता ऑक्टोपस के दर्शन करने का बेहद आभार

    regards

    ReplyDelete
  10. आपके सौजन्य से हमने भी आक्टोपस के दर्शन कर लिये राज जी! धन्यवाद!

    ReplyDelete
  11. 2000 करोड़ की संपत्ति की मालकिन, एक नव-यौवना को तलाश है मिस्टर राइट की!

    क्या अब आपका नंबर है? ;-)

    ReplyDelete
  12. वैसे यह ऑक्टोपस बाबा की कहानी हैरानी पैदा करती है.... क्या यह वाकई सच है? या केवल सनसनी फ़ैलाने का कृत्य मात्र है?????

    ReplyDelete
  13. आपको शुभकामनाएं..

    पर ये ओक्टोपस को क्यों हैरान कर रखा है.. मेरी समझ के परे है..

    ReplyDelete
  14. देखते हैं क्या मामला है।

    ReplyDelete
  15. भाटिया जी, तनिक पता कर के बताईये तो सही कि एक आक्टोपस खरीदना हो तो कित्ते का मिलेगा...सोच रहे हैं कि एक खरीद ही लें. यहाँ ब्लागरों के बारे में भविष्यवाणी किया करेंगें कि किसकी पोस्ट हिट होगी और किसकी फेल :)

    ReplyDelete
  16. जर्मनी के लिये शुभकामनायें

    प्रणाम

    ReplyDelete
  17. मिस्टर पॉल (औक्टोपस) तो सचमुच हीरो बन गए हैं...आज के TOI में उनकी जीवन गाथा प्रकाशित हुई है..मय चित्रों के
    जर्मनी को शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  18. बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  19. अच्छी जानकारी दी है....अष्ट्पाद के बारे मे हमारी शुभकामनायें

    ReplyDelete
  20. ऑक्टोपस को देख लिया जी!...इसकी भविष्यवाणियां भी सटिक निकलती है!...बढिया पोस्ट!

    ReplyDelete
  21. हार्दिक शुभ-कामनाएं!...इन्हें अलग से दे रही हूं!

    ReplyDelete
  22. आपके जर्मनी के लिए शुभकामनाएं .....!!

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये