12/10/09

दुशमन को केसे दे मुंह तोड जबाब...

हमे भी मान ऎसे मुस्लिम भाईयो पर जो अपने दुशमन को पहचानते है, चाहे वो दोस्त का रुप धारण कर के आया हो, काश हम सब ऎसा सोचे तो इस लडाई झगडे से जो देश को ओर हमे नुक्सान हो रहा है, एक वो ना हो दुसरा जिस लाभ से हम बंचित है, वो लाभ हो, ओर हम सब इन कमीने नेताओ की हाथ की कठपुतलिया ना बने,

तो देखो इस विडियो को ओर सीखो केसे दोस्त के रुप मे छिपे दुशमन को मुंह तोड जबाब दिया जाये, अरे जब घर ही नही बचेगा तो परिवार कोन सा ? जब देश ही नही बचेगा तो कहा रहोगे?? टुकडो मे बंटने से पहले सोचो कि एकता मै ही बल है...
तो देखिये इस विडियो को... अगर ना चले तो इसे चला कर थोडा इंतजार करे, लेकिन जरुर देखे इस विडियो को...धन्यवाद

25 comments:

शिवम् मिश्रा said...

आपको और मौलाना मदनी, दोनों, को तहे दिल से बहुत बहुत शुक्रिया !

विनोद कुमार पांडेय said...

बहुत करारा जवाब..पाकिस्तान के परवेज़ को..
बहुत बढ़िया विडियो ..कोई भी धर्म हो पहले भारतीय है..

धन्यवाद राज जी..

संगीता पुरी said...

बहुत बढिया .. सचमुच पहले हम भारतीय हैं .. भारत की रक्षा करना हमारा पहला धर्म हैं .. देश के लिए हम अपने बेटों , भाइयों और सुहाग तक की बलि देते आए हैं !!

प्रकाश गोविन्द said...

हाँ राज जी बिल्कुल सही कहा आपने - "जब घर ही नही बचेगा तो परिवार कोन सा ? जब देश ही नही बचेगा तो कहा रहोगे??
टुकडो मे बंटने से पहले सोचो कि एकता मै ही बल है..."

यह वीडियो भी मैं बहुत पहले देख चूका हूँ ... उस वक्त भी मुझे इन मुस्लिम भाई पर बहुत गर्व हुआ था ! मेरा मानना है ऐसे मुसलामानों की तादाद यहाँ बहुत ज्यादा है जिनके दिलों में हिंदुस्तान बसता है ... धड़कता है ... महकता है ! बस जरूरत है - नफरत की दीवार खड़ी करने वाले ... आपस में दरार पैदा करने वाले नेताओं से बचने की !

उदाहरण तो बहुत सारे हैं लेकिन एक बात बताना प्रासंगिक होगा ... यहाँ लखनऊ के बख्शी का तालाब क्षेत्र में पिछले सत्तर सालों से रामलीला का आयोजन होता है, जिसमें मुस्लिम समुदाय बड़ी दिलोजान से शामिल होता आया है ! सम्पूर्ण व्यवस्था से लेकर रामायण के प्रमुख पात्रों के अभिनय तक में उनकी भूमिका रहती है !

आपकी एक जिम्मेदाराना पोस्ट के लिए आभार
शुभ कामनाएं

परमजीत बाली said...

vaah!राज जी, बहुत बढिया वीडियो है....बधाई।

Mithilesh dubey said...

बहुत खुब। अब ऐसे मुसलमान हो तो क्या कहने। कुछ लोग तो है जिस थाली में खाते है उसिमे छेद भी करते है तब दिल बड़ा दुखता है।

Arvind Mishra said...

यह था एक सच्चे भारतीय का जवाब और मियाँ मुशर्रफ बगले झाकने लगें !
बहुत आभार इस वीडियो के लिए !

Babli said...

बहुत बढ़िया वीडियो लगा ! हर इंसान को अपने मन में कभी भेद भाव नहीं रखना चाहिए बल्कि हमेशा मिलजुलकर रहना चाहिए !

सतीश सक्सेना said...

गज़ब की प्रस्तुति!

जी.के. अवधिया said...

इसे कहते हैं दुश्मन के गाल पर करारा थप्पड़!!!

पी.सी.गोदियाल said...

भाटिया साहब, वैसे तो मैंने यह विडियो तब ही देखे थे जब मुशरफ समिट में भाग लेने आये थे ! मगर इसे लोगो के ध्यान में फिर से लाने के लिए आपका धन्यवाद, और यही कहूंगा फिर से की खुदा इस देश के हर मुसलमान को मौलाना मदनी जैसी अक्ल और साफ़-साफ़ बोलने की हिम्मत बख्से !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

राज भाटिया जी इस वीडियो को दिखाने के लिए धन्यवाद!
अब तो कुछ करना ही होगा!

अन्तर सोहिल said...

भाटीया जी आपका हार्दिक धन्यवाद
हम भारतवासियों को गर्व होना चाहिये इन पर
क्या जवाब दिया है

प्रणाम स्वीकार करें

रश्मि प्रभा... said...

waah,bahut achha laga

Varun Kumar Jaiswal said...

मदनी ने जो किया वो इस देश के नागरिकों के लिए आदर्श है |

योगेन्द्र मौदगिल said...

बेहतरीन प्रस्तुति......

अनूप शुक्ल said...

रोचक वीडियो !

राजीव तनेजा said...

आपका और मौलाना मदनी...दोनों का बहुत-बहुत धन्यवाद

Hari Shanker Rarhi said...

राज भाटिया जी,
ऐसी सामग्री का प्रचार प्राथमिकता से होना चाहिए पर विडम्बना तो यह है कि यहाँ का समर्थ तंत्र – सरकार और औद्योगिक वर्ग आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली , एड्स से बचने के लिये कंडोम और आयोडीन नमक के प्रचार से फुरसत ही नहीं पा रहा है.

कुन्नू सिंह said...

अभी विडीयो लोड नही हूवा है।

पर जब लोड हो जाएगा तो दुशमन को करारा जवाब देने वाला तरीका सिख जाऊंगा

बहुत बढीया विडीयो होगा, मजा आ जाएगा विडीयो देख कर।

कुन्नू सिंह said...

मुसलरफ तो आपा खो बैठे :)) हा...हा....

"मुझे खूशी है" खूशीशीशी...ई..ई है"

शरद कोकास said...

मुशर्रफ साहब का जवाब भी कूतनीति से भरा हुआ है वे इसे सहज रूप से स्वीकारते नही दिखे । इस बात के अनेक अर्थ हो सकते हैं कि जैसा आप चाहते हैं वैसा हो । यह सब हम जैसे सहज लोगो के समझ् मे भी नही आनेवाला ।

शोभना चौरे said...

dhnywad .aapki is jagrukta ko slam .
jay bhart

गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' said...

jai ho jai ho

श्याम सखा 'श्याम' said...

राज भाई आप बहुत अच्छे सारगर्भित मुद्दे उठाते हैं चाहे वह घरॊं में कंस का हो या यह समाचार -साधवाद व आप्के स्वस्थ दीर्घ् जीवन की दुआएं
श्याम सखा श्याम