09/02/09

भाई कोई कुछ बताये गां कुछ इस बारे??


एक दो सप्ताह से मेरे चारो ब्लांग पर कई चिठ्ठा कारो के फ़ीड यानि मेरी ब्लांग लिस्ट मे उन के चिठ्ठे नही आ रहे, क्यॊ ? पता नही, मेने दोवारा भी डाले लेकिन वही ढाक के तीन पात, आज ताऊ का चिठ्ठा भी गायब, अगर किसी को पता हो तो जरुर बताये क्या कारण है?, क्या चिठ्ठो की संख्या, किसी सीमा तक होनी चाहिये? या कम चिठ्ठे हो ? लेकिन मेरे एक ब्लांग पर सिर्फ़ ६० चिठ्ठे ही ब्लांग लिस्ट मै है , वहा भी कई चिठ्ठे गायब,? यह कई लोगो के साथ हो रहा है या सिर्फ़ मेरे ही साथ, अगर मेरे साथ ही हो रहा हो तो बताये, मै कोन से देवता की पुजा करूं, कोन सा व्रत रखू,

कुछ बताओ , नही तो यह ताऊ लठ्ठ ले कर वापिस आ रहा है उसे P D ने उलटा सीधा भडका दिया है, कोई बात नही पी डी भाई, ताऊ का लठठ उलटा करना भी आता है,


अगर किसी को इस बारे (ब्लांग लिस्ट के बारे) पता हो तो जरुर मेरी मदद करे

धन्यवाद

19 comments:

विनय said...

चलिए जो होता है अच्छे के लिए होता है

Udan Tashtari said...

जब हमारा ब्लॉग गुम हो जाये तो बताईयेगा..तब दिमाग लड़ायेंगे. :)

ताऊ रामपुरिया said...

हमारा तो हो गया कई जगह से. बहुत से लोगों की शिकायत है. भतीजे आशीष खंडेलवाल को बोला है. और उन्होने कुछ सेटिंग भी करवाई है अब देखिये क्या होता है.

रामराम.

Tarun said...

हमारा तो ब्लोग ही नही है इसलिये क्या दिमाग लगायें, हाँ उड़नतश्तरी का ब्लोग गायब करके उनका दिमाग लगवाया जा सकता है

seema gupta said...

" ओह ये समस्या तो ताऊ जी के ब्लॉग पर भी आई है....शायद कोई तकनिकी खराबी हुई है...."

Regards

रश्मि प्रभा said...

pata nahi.......

mamta said...

इस मामले मे तो हम कोई मदद नही कर सकते है । :)

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

भाटिया जी,, हमारे साथ भी यही समस्या आ रही है..

दीपक कुमार भानरे said...

श्रीमानजी लगता है की ब्लॉग मैं भी मंदी का दौर चल रहा है . जल्द ही यह बदल हटेंगे .
धन्यवाद.

Hari Joshi said...

ब्‍लाग पंडितों जल्‍दी से बताओ मेरा भी ब्‍लाग नहीं आ रहा। रहम करो इस पंडित पर।

ज्ञानदत्त । GD Pandey said...

आलोक ९-२-११ के समाधान का प्रयोग करें।

विष्णु बैरागी said...

जो जितना ज्‍यादा समझे, उतना ज्‍यादा दुखी। मैं बहुत सुखी हूं। अब तक नहीं जानता कि यह *फीड' क्‍या होती है।

Dr. Amar Jyoti said...

सुधीजनों! सहायता की आवश्यकता तो मुझे भी है। मैंने एक नया ब्लॉग बनाया है पर उसे ब्लॉगवाणी और चिट्ठजगत से लिंक नहीं कर पा रहा हूं। ब्लॉगवाणी को दो मेल भी किये पर कोई उत्तर नहीं मिला।
"कस्मै देवाय हविषा विदेहम?"

Atul Sharma said...

मैं भी विण्‍णु बैरागी जी की श्रेणी में आता हूं। कम जानता हूं और सुखी रहता हूं।

ilesh said...

राज जी आप नीम के पेड़ की 21 बार प्रदक्षिणा करने का व्रत ले लीजिए आपका काम बन जाएगा ऐसा इलेश गुरु जी का कहना हे....हो सकता हे ताउजि का लठ भी आपका पिच्छा छ्चोड़ देगा इस व्रत से और सब ठीक हो जाएगा.....

Dev said...

Ilesh guru ji ne bahut achchha larika bataya hai... aajma kar dekhiye shayd kam kar jaye...just kidding.
Regards

समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...

आप अपने ब्लॉग में फ़िर से दूसरोब्लागर की फीड लिंक बनाए . शायद कुछ काम बन जाए . हाँ एक बात की मई ज्यादा नही अन्त हूँ. धन्यवाद.

Mrs. Asha Joglekar said...

समस्या काा तो हल................पता नही पर आपका गुलाब बडा कूबसूरत है । क्या तो रंग..... और क्या तो वे ओस की बूंदे ।

प्रकाश बादल said...

भाई हम तो आपसे ही सीखते हैं तो आपको क्या बता सकते हैं।
पता चल जाएगा तो आप हमें भी बताईएगा।