12/12/08

काम की बाते

आप जिन के पास भी कार है, उन्हे सर्दियो मे जब कभी बाहर धुंध होती हे, या सर्दियो मे बरसात हो ओर आप को कार से कही जाना हो परिवार समेत तो..... कई बार कार के अंदर सब के सांस लेने से, ओर हीटर( कार गर्म करने के लिये कार का हीटर) से कार के अंदर की तरफ़ पानी भाप बन कर जम जाता है, रात का समय हो तो ओर भी मुश्किल होती है,

बार बार शीशे साफ़ करो , उधर ट्रेफ़िक,शोर शराबा, बहुत मुस्किल होती है ? होती है ना?? अगर मेरा फ़ारमुला अजमाओ तो आप इन सब झाझटो से छुटकारा पा सकते है ?? जी आप बेफ़िक्र हो कर कार चलाये, शीशे हम साफ़ कर देते है,

जब आप कार मे बेठे तो पहले सब शीशे नीचे कर दे, या फ़िर १,२ मिन्ट के लिये सारे दरवाजे खोल दे, ओर फ़िर अंदर बेठे तो हीटर चला ले , अगर अंदर भाप बन गई तो, झट से आप अपना ए सी (A/C ) चला दे, लेकिन हीटर बन्द ना करे.

फ़िर देखे सारी भाप कहां गई, १ मिनट काफ़ी है, फ़िर ऎ सी बन्द कर दे, ओर अगर आप की कार मै तापमान ( टेमप्रेचर) सेट करने की सुबिधा है तो कोई बात ही नही, बस ऎसी को बन्द ना करे , ओर मुगफ़ली खाते हुये, सीटी बजाते हुये कार चलाये, यानि इस भाप का दुशमन है आप का ऎ सी.

31 comments:

  1. और कहीं a/c चलाने पर जम गै तो?

    ReplyDelete
  2. कुल मिला कर बच्चों ने यह सीखा कि कार में हीटर और एसी दोनों एकसाथ चलाए जाने चाहिए :)

    ReplyDelete
  3. समस्या गंभीर थी समाधान आसान सुझाया आपने . यह परेशानी आज कल की बड़ी तिरछी विंड स्क्रीन मे ज्यदा होती है .धन्यबाद

    ReplyDelete
  4. इधर हमारे यहाँ कभी हीटर की जरूरत नहीं होती शीशे बन्द कर देने से काम चल जाता है और एसी केवल लम्बे सफर में चलाना पड़ता है।

    ReplyDelete
  5. यहां भारत मे खासकर मध्य और पश्चिम भारत मे हीटर चलाने की तो कभी आवश्यकता ही नही पडती ! अलबत्ता A.C. तो ज्यादातर चलाना ही पडता है !

    आप वाली समस्या यहां नमी ज्यादा बढने पर ही आती है जो बीच बीच मे एक दो मिनट हीटर चालू करके दूर हो जाती है !

    राम राम !

    ReplyDelete
  6. waah achhi jankaari rahi ye tho.

    ReplyDelete
  7. अरे वाह , सुबह सुबह इतनी काम की बता पता चली , इस समस्या से आजकल रोज ही दो चार होना पड़ता है, जानकारी के लिए आभार.."

    ReplyDelete
  8. garm aur thande ki taasir par aapkaa anubhav share karne ke liye dhanywaad

    ReplyDelete
  9. अच्छी जानकारी दी है आपने

    ReplyDelete
  10. AC or Heater एक साथ,

    exp करना पडे़गा..

    ReplyDelete
  11. प्रोब्लम तो थी ,लेकिन मुश्किल आसान कर दी आपने धन्यवाद

    ReplyDelete
  12. अजी हमें यह परेशानी होती हैं जी, सोचो क्यों? अजी हमारे पास गाड़ी ही नही हैं।

    ReplyDelete
  13. बस ऎसी को बन्द ना करे , ओर मुगफ़ली खाते हुये, सीटी बजाते हुये कार चलाये, यानि इस भाप का दुशमन है आप का ऎ सी.
    ------
    सही जी। पर पास में मूंगफली न हो और सीटी बजाना न आता हो, तब क्या करें!:)

    ReplyDelete
  14. मूंगफली खाते हुए गाड़ी न चलाये ......बाकी सब ठीक है...., ऐसा हम पर्सनल अनुभव से कह रहे है..राज जी आपकी बातो पर गौर फरमाएंगे

    ReplyDelete
  15. kaam ki is baat ko yaad rakhenge......shukriyaa

    ReplyDelete
  16. बहुत ही उम्दा सुझाव. अगर मूंगफली न मिले तो फ़िर सीटी कैसे बजायेंगे ....

    ReplyDelete
  17. bahut achcha sujhaw diye hai mai hamesa yaad rakhunga!

    ReplyDelete
  18. बड़ी उपयोगी सलाह दी आपने.

    ReplyDelete
  19. बहुत पते की बात बताई आपने !!!

    ReplyDelete
  20. सर
    माफी चाहूंगा पर जरा स्पष्ट करें.
    क्योंकि यहाँ तो कार में एसी से ही ठंडा या गरम किया जा सकता है .
    दोनों एक साथ कैसे चलाएंगे ?

    ReplyDelete
  21. अनुपम जी आप की बात ठीक हे, दोनो की हवा एक जगह से ही आती है, लेकिन बटन अलग अलग होते है, बस आप ने हीटर का वटन बन्द नही करना, ओर ऎ सी का बटन चला दे, लेकिन ज्यादा देर नही एक आध मिण्ट के लिये,यानि दोनो को साथ चलने दे,

    ReplyDelete
  22. saral bhasha mein, bahut achchhi jaankaari di hai aapane!...dhanyawad sir!

    ReplyDelete

  23. सही जानकारी, भाटिया जी का यह तज़ुर्बा आज़मा लिया है मैंनें,
    सटीक काम करता है आपका यह अनुसंधान !
    आप पेटेन्ट करवा रहे हैं, कि मैं ही करवा लूँ ?

    ReplyDelete
  24. अरे गुरु जी आप ही पेटेन्ट करवा ले, चेला तो चेला ही होता है.

    ReplyDelete
  25. वाह भाटिया जी, इस मामले मे मैं निपट अनाड़ी था क्योंकि मैंने कार इसी साल खरीदी. आपकी राय सस्ती, सुंदर और टिकाऊ है. जरूर आजमाएंगें प्रभु.... जैराम जी की.....

    ReplyDelete
  26. बहुत अच्‍छा, जानकारी बहुत ही अच्‍छी लगी।

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये