14/10/08

मां

मां का मान
पुरा पढने के लिये यहां जाये

6 comments:

  1. वहॉं भी जा रहे है

    ReplyDelete
  2. Bhatiyaji, Kitnehi log kahan samajh paate hain maa ka mahtva.

    ReplyDelete
  3. हमने भी तो ये दुनिया माँ के द्वारा ही देखी है
    उत्तम विचार

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये