11/10/08

कुछ सब से जुदा

मियां बीबी समुन्दर के किनारे घुम रहे हे....

बीबी, जी इसे बीच क्यो कहते हे ?

पुरा पढने के लिये यहां दबाये

5 comments:

neeshoo said...

क्या बात है सर बहुत खूब । बढिया लगा पढ़के

डॉ .अनुराग said...

बहुत खूब आपके ब्लॉग पर कोई दिक्कत नही आती है सिवाय इसके की आपके यहाँ दो बार क्लिक करना होता है हर बार .ऐसा क्यों ?

दीपक said...

मजेदार चुटकुला है!!धन्यवाद

रश्मि प्रभा said...

mazaa aa gaya hanske

राज भाटिय़ा said...

आप सभी का धन्यवाद, अनुराग जी आप सब तक पहुचने का यही एक तारीका है, क्योकि मेने नारद मियां ओत दो बार अपना *छोटी छोटी बाते * वाला लिंक भेजा भाई इसे नारद पर डाल दो लेकिन पता नही क्यो, नारद मियं को शायद बडी बडी बाते अच्छी लगती है, इस लिये आप सब तक यही तरीका है पहुचने का, वेसे नारद मियां ने नन्है मुन्है बिना कहे ही नारद पर डाल दिया, इस लिये सब गोल माल है :)