02/09/08

रफ़ी जी के गीत

आप सुनना चाहेगे रफ़ी जी के हिट गीत एक के बाद एक...
तो देर किस बात की यहां दवाये

7 comments:

योगेन्द्र मौदगिल said...

वाह वाह.. भाटिया जी,
रफी साहब...!!!!!
आपकी प्रस्तुति को नमन.

पर
एक बात समझ ना आई आजकल ताऊ के पास दो लट्ठ हैं एक तो आपने जरमनी से भेजा था ये दूसरा कहा तै आया ?

seema gupta said...

" ye to vo baat huee kee dil ke muraad pure ho gyee"

Great efforts thanks for making available rafi song here.

Regards

महेंद्र मिश्रा said...

rafi ji badhiya geet prastut karne ke liye dhanyawad. purane gano ki yade tarotaja kar di . shri ganesh chaturathi parv ki hardik shubhakamanaye .

pallavi trivedi said...

waah...kya sundar geet hain.

अशोक पाण्डेय said...

अपने यहां का सर्वर धीमा होने के कारण गीतों को सुन तो नहीं पाया, लेकिन रफी साहब मेरे भी पसंदीदा गायकों में हैं। उनके गीतों का सुरीलापन और मिठास एक अलग ही आनंद की अनुभूति कराता है।

Anwar Qureshi said...

शुक्रिया भाटिया साहब ...

कुन्नू सिंह said...

मैने भी ईनके बहुत से गाने सूने है। बहुत अच्छा लगता है।

अब आपके ब्लाग पर वो मूझे अंगूठा दीखाता रहता है।