12/04/08

पीजीआई ने जीवित बच्चे को मृत घोषित किया

पीजीआई ने जीवित बच्चे को मृत घोषित किया
पुरी खबर यहाँ देखे..

3 comments:

Dr.Parveen Chopra said...

खबर पढ़ कर एक अजीब सा डर लगा !

राजीव जैन Rajeev Jain said...

जयपुर में कल ही ऐसा हुआ है।
एक साढे पांच महीने की प्री मेच्‍योर डिलेवरी के बाद बच्‍चे को डॉक्‍टरों ने मृत घोषित कर दिया। जब उसे दफनाने लगे तो परिजनों को सांसे चलती हुई दिखी।
वापस अस्‍पताल लाए और उसे आईसीयू में एडमिट कराया गया।
धन्‍य हो डॉक्‍टर साहब

दिनेशराय द्विवेदी said...

अब समझ आया कि मृत शरीर को दफनाने या दाह संस्कार के पहले उस के कपड़े क्यों उतारे जाते हैं। इसीलिए कि आखिरी बार यह तय हो जाए कि जीवन के कुछ लक्षण शेष तो नहीं हैं, कहीं वे तो जीवन को तो नष्ट नहीं कर रहे।
जल्दबाजी में सभी जगह के डॉक्टर यह गफलत करते हैं। अधिकतर वे जो नामी गिरामी हैं और आँख बन्द कर पैसा कूटने में लगे हैं।