14/02/08

ब्रॉकली कैसे बनायें ? ऎसे भी तो बना सकते हे.

आज मेने नारद पर पढा *ब्रॉकली कैसे बनायें * मुन्ने के बापू नाम के ब्लोग से, ब्रॉकली मुझे बहुत पसंद हे या हम ज्यादा खाते हे बात एक ही हे, कयो कि यहां हरी भारतिया सबजिया बहुत कम मिलती हे, ओर उन्हे लेने के लिये भी ६०,६५ किमी दुर जाना पडता हे,इस लिये जो सबाजिया यहां मिलती हे, उन्हे ही मेरी बीबी भारतिया रगं मे बनाती हे,मुन्ने की मां ने जिस ढगं से ब्रॉकली बाताई हमने बना कर खाई, बहुत ही स्वदिस्ट बनी, ओर सब ने मजे से खाई,
लेकिन हमारी श्रिमति कुछ इस ढगं से बनाती हे,...
ब्रॉकली को छोटे टुकडो मे काट ले, फ़िर साफ़ पानी से धो ले, अब एक बडा प्याज छोटे टुकडो (बारीक) मे काट ले,लसन ओर अदरक अपनी पसदं से, दो टमाटर ( बडे) काट ले,फ़्रईफ़ेन मे एक दो चमच्च तेल डाल
प्याज ओर टमाटर( चहो तो अदरक, ओर लसहन ) को आग पर भुने, सुनहरी रगं होने पर इस मे थोडी सी हल्दी, लाल मिर्च, गर्म मसाला,नमक,स्बाद अनुसार डाल कर भुने, जब सारे मसाले भुन्कर तेयार हो जाये तो इस मे ब्रॉकली डाल दे, ओर सब को अच्छी तरह से मिला दे,अब आचं धीमी कर के उपर ड्कान दे दे, १५,२० मिन्ट तक आप की ब्रॉकली तेयार हे,( ब्रॉकली धीमी आचं पर बनाने से उस के विटमिन नही मरते या खतम होते, ओर ब्रांकली खडी बने गी,
२.दुसरा तरीका...
ब्रॉकली को धो कर उबाल ले ( कुकर मे या पतिले मे ) यह जल्दी गल जाती हे, अब ब्रॉकली को निकाल कर घोट ले, अच्छी तरह से घोटने के बाद यह सरसो के साग की तरह से हो जये गी अब इसे मसाले मे डाल कर( मसाले उपर बाले ढग से तेयार कर ले प्याज टमाट्र,ल्ह्सन ओर अदरह ) थोडी देर के लिये आचं पर रखे,अब इसे चपाती के साथ, चावल के साथ खाये,

3 comments:

निशा मधुलिका said...

आपका ब्रोकली का भरता बनाने का तरीका बहुत अच्छा लगा

मुन्ने की मां said...

राज भैइया, मुझे तो भाभी जी का तरीका, मेरे तरीके से बेहतर लग रहा है। मैं भी इस तरह से बना कर देखती हूं।

राज भाटिय़ा said...

आप का धन्यवाद टिपण्णी देने का