04/02/08

ध्यान से देखॆ देखे कया माजरा हे

चिठ्ठे पढ कर थक गये हो तो थोडा, आंखॊ की कसरत यहां कर ले,कया कहा यह घुम रहे हे ? जी, नही घुम रहे, जी कया कह रहे हे आप, भाई ध्यान से देखो....फ़िर बोलो घुम रहे हे या नही ?

1 comment:

अल्पना वर्मा said...

sach mein ghuum rahe hain--!amazing picture