30/01/08

हमारी इटली यात्रा अन्तिम भाग



नमस्कार आप सब को,आज हमे डोलो (Dolo) मे रहते हुये तीन दिन हो थे,हमने डोलो के आसपास काफ़ी घुमा,अचानक मोसम खराब होने की वजह से हम पिछले दिनो वेनिस (Venice ) नही जा पाये, लेकिन कल हमने वापिस घर जाना हे तो आज आप को वेनिस जरुर घुमा लाये.

आज हम सब सुबहा आराम से उठे ,नहा कर नाश्ता किया ओर वेनिस के लिये बस पकडी,यहां से वेनिस २४ किमी दुर हें,बस से हम सब के २०€ आने जाने के लगे,ओर कुछ ही समय मे हम वेनिस पहुच गये, आज मोसम बहुत ही गर्म था,यहां Piazza San Marco , पिस्सा सन मरको, Accademia Bridge , Palladian Villas of the Veneto,San Michele ,Basilica di Santa Maria della Salute ,Campo San Polo ,वगेरा वगेरा देखने के हे इन मे चर्च,बिल्डिगं,ओर पुल वगेरा हे,


यह सारा शहर समुन्द्र मे बना हे यानि यहां समुन्द्र की सतह जयादा गहरी नही हे,यहां पर सडके हे ही नही तो बसे,कारे ओर अन्य वाहन चलने का सवाल ही नही,हर तरफ़ वोट,ही वोट ओर किश्तिया,बसॊ की जगह बिना टायर बाली बस यानि मोटरवोट बस,मोटर वोटटेक्सी, ओर खुले स्थानो पर जहा पानी थोडा गहरा हे सिप चलते हे,





हमे पुरा शहर पेदल चल कर घुमा,हर तरफ़ दुकाने ही दुकाने,बीच बीच मे रेस्तरेन्त भी थे, होटेल तो बहुत ही जयादा हे लेकिन बहुत ही महंगे,हम लोग ३,४ घण्टे घुम कर थक गये तो सोचा कयो ना बस से पुरे वेनिस का एक चक्कर लगाया जाये, ओर हम सब एक मोटरबस मे बेठ गये,जिस से हम पुरा वेनिस एक कोने से दुसरे कोने तक घुम कर आये,इस के बाद हम ने सिप मे भी एक चक्कर वेनिस के आसपास का लगया,वेनिस मे वापिस आ कर फ़िर थोडा पेदल घुमे ओर एक लम्बा चक्कर किश्ति से लगाया, किशती वाले ने हम से ६०,००€ लिये जो मेरे हिसाब से बहुत ज्यादा थे,ओर वोभी २०,२५ मिन्ट के,अब भुख भी काफ़ी लग गई थी, हम ने एक स्टोर से कुछ खाने पीने का समान खरीदा ओर घुमतॆ घुमते खाते पीते रहे,साथ साथ मे फ़ोटो, ओर विडियो भी लेते रहे,


शाम के ७,०० बजने वाले थे लेकिन भीड बढती जा रही थी,ओर हम सब काफ़ी थक भी गये थे,अब तो चलना भी कठिन होजाता इस लिये हम वपिस होटेल चल पढे,अब बस मे भी बेठने की जगह नही थी,आधे घन्टे मे होटेल पहुच गये, खाना वगेरा खा कर रात १,०० बजे तक सब् सो गये,दुसरे दिन हम ने होटेल सुबह १०,०० बजे छोड दिया,ओर घर की ओर चल पडे, अस्ट्रिया से थोडा पहले ही थोडी बुन्दा बन्दी शुरु हो गई,लेकिन चारो ओर बहुत ही सुन्दर नजारा था, अब हम बरेना पास से थोडा ही दुर थे, यहां हम कभी बहुत ऊचाई पर होते तो बादल नीचे दिखते कभी हमारी कार बादलॊ के बीच से गुजरती,सच मे बहुत ही सुदर लग रहा था,जेसे सपनो मे हो,यहां बच्चो ने कुछ फ़ोटो ओर विडियो लिये,आगे आने पर फ़िर बरसात शुरू हो गई,अब हम ने एयरकन्डिसन भी बन्द कर दिया था,ओर टी शर्ट की जगह थोडे मोटे कपडो ने ले ली, वेनिस से हमार घर ५५०,किमि दुर था ओर हम घर१,०० बजे पहुच गये,




अगली बार आप कॊ अपनी भारत यात्रा पर ले चले गे तब तक... नमस्कार.

2 comments:

  1. बहुत रोचक और सुंदर वर्णन !!

    ReplyDelete

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये