27/01/08

थोडा सम्भल कर भाई


अरे यह कया हो रहा हे

3 comments:

रंजू said...

बहुत मजेदार हैं यह ..सचमुच संभल के भाई :)

राज भाटिय़ा said...

रंजु जी धन्यवाद

Dr. Ajit Kumar said...

हँसने का सिलसिला थम नहीं रहा है राज भाई.
पेट में बल पड़ रहे हैं.
धन्यवाद.