12/01/08

ईटली के शहर नायापल के नजदीक जवाला मुखी ...







हम गर्मियो मे ईटली घुमने गये, तो एक दिन हम नयापल शहर के नजदीक जावालामुखी के मुहाने पर गये,इस पर्वत को ( साल्फ़तोरे) के नाम से जाना जाता हे, कुछ ही कदमो पर जवाला मुखी था,हर तरफ़ अजीब सी गेस युकत वायु थी, ओर जहा तक नजर जाती थी, तेजाब से जली भुमि,ओर पाव के नीचे गर्मी ही गर्मी,कुछ फ़ोटो आप भी देखे...


2 comments:

रंजू said...

अजब गजब लगे यह ..सामने आंखों से देखना इसको अदभुत रहा होगा !!

राज भाटिय़ा said...

रांजना जी वो रोमंच शव्दो मे नही बता सकते,जब आप जबाला मुखी के मुहाने पर हो ओर नीचे जमीन पुरी गर्म हो ओर आप के चारो ओर कही कही अभी भी गेसे निकल रही हो.
धन्य्वाद