28/07/08

इस कल युग मे ऎसा गीता ग्यान भी जरुरी हे....

हर युग मे भगवान आते हे ओर नये से नया ग्यान दे जाते हे, कल सपने मे मुझे मुफ़त मे यह ग्यान दे गये, सोचा आप से भी बांट लू... तो हाथ मुंह धो कर आ जाये कथा सुनने

15 comments:

शोभा said...

अच्छा लिखा है।

PD said...

mast hai ji..

अभिषेक ओझा said...

हा हा ! सब मोह माया है !

P. C. Rampuria said...

साहब जी थारी सारी बात मंजूर सै ! पर कंप्यूटर
आली नही ! हमनै जब कंप्यूटर नया ही खरीदा
है तो कल किसी और का कैसे था ? अगर
थारे हिसाब तैं दूकान दार हमको ताऊ बनाकै
पुराणा टिका गया सै ? तो जल्दी जबाव दो !
ताऊ इबी जाकै उस दूकान दार के सर पर
लठ बजावैगा ! या तो आप हमको ताऊ बणा
रे हो या वो दूकान दार बणा गया !

भई भाटिया हमने दिए सें ४ स्टार और १
स्टार आपका रिटेन सें म्हारे धोरे ! अगर
दूकान दार नै बईमानी करी तो वो पिटेगा
ताऊ सै ! नही तो थारा १ स्टार आज कट !

राज भाटिय़ा said...

राम पुरिया भाई आप के खरीदने से पहले कंप्यूटर का मालिक कोन था, उस से पहले उस के पुर्जो का मालिक कोन था, अब इस का मालिक कोन हे जब पुराना हो जाये गा तो इस का मालिक कोन होगा,भई ईब ताऊ मान जा सीधी तरीया कोई बात तेरी खोपडी मे घुसे ना, मे तो सम्झु था ताई गेलिया रह के ताऊ सयाना होगया होगा,लागे मान गिया से. राम राम भाई

अनुराग said...

jai ho gurudev.....

advocate rashmi saurana said...

bilkul sahi. bhut achha.

P. C. Rampuria said...

भाई भाटिया साहब इब थम म्हारे बड़े भाई हो !
चलो कोई बात नही थम कह रे हो तो मान
गया ताऊ ! थारा १ स्टार जो रिटेन था वो
वापस किया ! इब तो ठीक सै ना ?
फ़िर तैं दाब दिए हमनै ५ स्टार !

fundebaj said...

आप दोनों गुरु घंटालों का अंदाज माँ बदौलत
को बहुत पसंद आया ! हास्य मंच पर इस तरह
की चुटकी बाजी माहौल को खुशनुमा बना देती है !
यह जारी रहे ! ये हमारा फरमान है...... !:)

सतीश सक्सेना said...

हँसाने के लिए शुक्रिया राज भाई !

Udan Tashtari said...

हा हा !

Anil Pusadkar said...

aapko padhne ka nasha ho gaya hai praajee badhiya gyaan diya aapne

विजय शर्मा said...

आप का ये ज्ञान बहुत काम आयेगा

मीत said...

सही है भाई. ये है गीता का ज्ञान.

राज भाटिय़ा said...

मेहरबाणी आप के आने की.