18/01/08

सचमुच मे कया ऎसा ही हो रहा हे आजकल

यह बेहतरीन गीत या भजन ही कहले, लिया गया हे, फ़िल्म गोपी से, मे जब भी इस भजन को सुनता हु तो ऎसा मह्सुस होता हें, जेसे इस भजन का एक एक शव्द आज के समय के अनुसार सही हे, आप भी सुने इस भजन रुपी गीत को और, फ़िर बताऎ कया यह आज के युग के लिये उपयुक्त हे या नही, तो सुनिऎ रफ़ी जी की मिठ्ठी आवाज मे यह ....गीत

No comments:

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये