18/01/08

सचमुच मे कया ऎसा ही हो रहा हे आजकल

यह बेहतरीन गीत या भजन ही कहले, लिया गया हे, फ़िल्म गोपी से, मे जब भी इस भजन को सुनता हु तो ऎसा मह्सुस होता हें, जेसे इस भजन का एक एक शव्द आज के समय के अनुसार सही हे, आप भी सुने इस भजन रुपी गीत को और, फ़िर बताऎ कया यह आज के युग के लिये उपयुक्त हे या नही, तो सुनिऎ रफ़ी जी की मिठ्ठी आवाज मे यह ....गीत

No comments: